कुरुक्षेत्र में जुटे ग्रामीण अंचल के कार्यकर्ता खराब मौसम के बावजूद पहुंचे प्रान्त भर से संघ के कार्यकर्ता

H2

विसके जयपुर।

भारत की सेवा करनी है तो अपने आसपास के समाज में संगठन खड़ा करें, ये बात डॉ बजरंग लाल

गुप्त ने गीता विद्यालय परिसर कुरुक्षेत्र में आयोजित मंडल कार्यवाह शिविर में कही। शिविर के

उदघाटन कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि मेरा मंडल मेरा तीर्थ बने, इस भाव से हमें कार्य में जुटना

चाहिए। इसकी शुरुआत हमे अपने गाँव से करनी होगी। गाँव में शिक्षा, स्वावलंबन व ग्राम विकास के

कार्य में तेजी लाते हुए अपने गाँव को कुरीतियों और बुराइयों से मुक्त करें।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के ग्रामीण क्षेत्रों के मंडल कार्यवाह शिविर का शुभारम्भ श्रीमद भगवद्गीता

वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में हुआ। उल्लेखनीय है कि तीन दिन तक चलने वाले इस शिविर में

हरियाणा प्रान्त के सभी जिलों से लगभग एक हजार कार्यकर्ता भाग ले रहे हैं। पिछले दो दिन से खराब

मौसम भी कार्यकर्ताओं का उत्साह कम नहीं कर सका। बारिश में भीगते हुए सुबह से ही प्रदेश भर के

कार्यकर्ता विद्यालय परिसर में पहुंचना प्रारम्भ हो गये थे। कार्यकर्ताओं के उत्साह को देखते हुए ऐसा

प्रतीत हो रहा था कि देशसेवा के कार्य के लिए स्वयंसेवक को कोई भी बाधा रोक नहीं सकती।

स्वयंसेवकों की निष्ठा और लगन को देखते हुए मानो सूर्य देवता भी प्रसन्न हो गये और दो दिन से

हो रही वर्षा के बाद मौसम सुहावना हो गया।

हरियाणा में संघ की स्थापना के 80 वर्ष पूर्ण होने पर ग्रामीण क्षेत्र में संघ कार्य के विस्तार को ध्यान में

रखकर यह शिविर आयोजित किया गया है। शिविर कार्यवाह सुभाष आहूजा ने बताया कि हरियाणा भर

में संघ कार्य की दृष्टि से 847 मंडल हैं वर्तमान में 424 मंडलों के 1034 गांवों में 1720 शाखाएं

चल रही हैं। इस शिविर का उद्देश्य गावों में संघ कार्य का विस्तार करते हुए शेष सभी मंडलों को भी

शाखा युक्त करना है ।

शिविर के उद्घाटन कार्यक्रम में संघ के प्रान्त संघचालक मेजर करतार सिंह, शिविर अधिकारी

रिटायर्ड जनरल रघु सहरावत तथा प्रान्त कार्यवाह प्रो. देवप्रसाद भारद्वाज उपस्थित रहे।