गोरा बादल दोनों के अदम्य साहस व वीरता की कहानी

IMG-20180514-WA0009a5b525ee-1a2d-4c2c-8ed0-65e0cc7ed914 78abcedb-7cb6-4aa0-9beb-0aff1c8b4476गोरा बादल दोनों के अदम्य साहस व वीरता की कहानी है  जिन्होंने विदेशी आक्रमण का मुंहतोड़ जवाब देकर मातृभूमि के स्वाभिमान को बनाए रखा व महारानी पद्मिनी के साथ मिलकर राणा रतनसिंह को अलाउद्दीन खिलजी से मुक्त कराया यह जानकारी पाथेय कण संस्थान द्वारा गोरा बादल की गाथा चित्र कथा के विमोचन के अवसर पर लेखक व चित्रकार   ब्रजराज सिंह ने बतायी। राजावत द्वारा लिखित  चित्रकथा   48 पृष्ठ की यह  पुस्तक आकर्षक साजसज्जा व स्तरीय पन्नों पर छपी है,यह पुस्तक  बालकों के लिए बहुत उपयोगी रहेगी न केवल अच्छी कहानी से परिचित होंगे अपितु अपने इतिहास के प्रति गौरव का भाव भी जागरण होगा। इस अवसर पर पाथेयकण संस्थान के सचिव मेघराज खत्री , प्रबंध संपादक माणक जी सह प्रबन्ध संपादक ओमप्रकाश व सहक्षेत्र प्रचारक निंबाराम जी क्षेत्र सेवा प्रमुख शिवलहरी जी भरतपुर से क्षेत्र कार्यकारिणी सदस्य  हेमंत कुमार  प्रान्त प्रचारक प्रान्त कार्यवाह गेंदालाला, मेघसिंह अजमेर से वीरेंद्र शर्मा सहित अनेक प्रबुध एवं प्रमुख जन उपस्थित थे।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × 3 =