राजस्थान में सिन्धी बाल संस्कार शिविरों का शुभारंभ

संस्कृति का आधार संस्कार है- सांई ओमलाल

bss ph ‘‘संस्कृति का आधार संस्कार है, अपने साहित्य की रक्षा, गौरव से हम कर सकते हैं, उक्त विचार भारतीय सिन्धु सभा की ओर से आयोजित देहली गेट स्थित प्रेम प्रकाश आश्रम में सांतवे सिन्धी बाल संस्कार शिविर के शुभारंभ अवसर पर सांई ओमलाल शास्त्री व प्रदेश महामंत्री महेन्द्र कुमार तीर्थाणी ने प्रकट किये।
कार्यक्रम का शुभारम स्वामी टेउंराम, भारत माता, सिन्ध ईष्टदेव झूलेलाल की मूर्ति पर दीप प्रज्जवलन और माल्यार्पण राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नवलराय बच्चाणी, इच्छापूर्ण झूलेलाल मन्दिर के खेमचन्द नारवाणी, अध्यक्ष मोहन तुलस्यिणी ने किया। आश्रम में आरती के साथ सिन्धी अबाणी ब्ोली और रख त मुहिजे लाल से पाणे पूरी कन्दो…. सहित कई सिन्धी गीतों की प्रस्तुति विद्यार्थियों ने दी। स्वागत भाषण मोहनदास सोनी ने व मंच संचालन महेश टेकचंदाणी ने किया। संगीत शिक्षा ममता तुलस्यिणी, व शिक्षण सुनीता भागचंदाणी व योगेश ने करवाया।

6वां बाल संस्कार शिविर चन्द्रवरदाई नगर में प्रारम्भ
संगठन मंत्री मोहन कोटवाणी ने चन्द्रवरदाई नगर में छठा बाल संस्कार शिविर का शुभारम्भ सिन्धु विकास समिति के सहयोग से मधुबन गार्डन चन्द्रवरदाई नगर ए ब्लॉक में प्रारम्भ हुआ शिविर में 107 विद्यार्थियों को शिक्षण और गीत संगीत के साथ खेलकूद करवाये।
इस अवसर पर जगदीश भाटिया, प्रकाश मूलचंदाणी, हरीश खेमाणी, रमेश एच. लालवाणी, प्रवीण वाधवाणी, गोरधनदास खिलनाणी, चन्द्र नावाणी, खूबचंद खूबचंदाणी, सुन्दर लखवाणी सहित समिति के पदाधिकरी उपस्थित थे।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 − 1 =