Monthly Archive: October 2018

शाश्वत मूल्यों के प्रकाश में चलने वाली परम्परा के लिए ग्लास्नोस्त शब्द अप्रासंगिक है 0

शाश्वत मूल्यों के प्रकाश में चलने वाली परम्परा के लिए ग्लास्नोस्त शब्द अप्रासंगिक है

सरसंघचालक डॉ. मोहन जी भागवत की तीन दिवसीय व्याख्यानमाला के पश्चात अपेक्षित बहस जनमाध्यमों में चल पड़ी है. अनेक लोगों ने इसका स्वागत किया है. कुछ लोगों ने जो कहा गया उसकी प्रामाणिकता पर...

परिवार सम्मेलन, महिला सम्मेलन, विचार वर्ग का आयोजन करेगा स्वदेशी जागरण मंच 0

परिवार सम्मेलन, महिला सम्मेलन, विचार वर्ग का आयोजन करेगा स्वदेशी जागरण मंच

स्वदेशी जागरण मंच जोधपुर, पाली, फलोदी के कार्यकर्ताओं की विस्तृत बैठक शनिवार को हेडगेवार भवन, जोधपुर में आयोजित हुई. बैठक में आगामी कार्ययोजना को लेकर बड़े निर्णय किए. मंच नवम्बर – दिसम्बर में परिवार,...

जिस कार्य से संपूर्ण समाज का हित हो, वही कार्य ठीक होता है – डॉ. कृष्णगोपाल जी 0

जिस कार्य से संपूर्ण समाज का हित हो, वही कार्य ठीक होता है – डॉ. कृष्णगोपाल जी

 राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल जी ने देशवासियों से आह्वान किया कि वे वर्ग संघर्ष एवं राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में लिप्त तत्वों से सावधान रहें. ऐसे लोग शिक्षक, अधिवक्ता, डॉक्टर, किसान...

संघ का ध्येय सम्पूर्ण समाज को समरस,शोषण मुक्त,समता युक्त व सुसंगठित कर संसार में अजेय व सात्विक सज्जन शक्ति खड़ी करना है – सूर्य प्रकाश जी 0

संघ का ध्येय सम्पूर्ण समाज को समरस,शोषण मुक्त,समता युक्त व सुसंगठित कर संसार में अजेय व सात्विक सज्जन शक्ति खड़ी करना है – सूर्य प्रकाश जी

जयपुर (विसंकें)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ सीकर नगर के स्वयंसेवकों द्वारा संघ के स्थापना दिवस पर स्थानीय जैन भवन में शस्त्र पूजन एवं द्विधारा पथ संचलन किया गया। कार्यक्रम में सीकर नगर के स्वयंसेवकों ने...

विरोध, दुष्प्रचार, कुठाराघात के बावजूद संघ कार्य व विचार सर्वव्यापी, सर्वस्पर्शी बन रहा 0

विरोध, दुष्प्रचार, कुठाराघात के बावजूद संघ कार्य व विचार सर्वव्यापी, सर्वस्पर्शी बन रहा

दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी की तीन दिवसीय व्याख्यानमाला, भविष्य का भारत : संघ का दृष्टिकोण, पूर्णतया सफल रही. इस व्याख्यानमाला में प्रतिपादित विषयों की कुछ चर्चा अभी...

लोकसन्त पांडुरंग शास्त्री आठवले 0

लोकसन्त पांडुरंग शास्त्री आठवले

19 अक्तूबर/जन्म-दिवस       लोकसन्त पांडुरंग शास्त्री आठवले हिन्दू समाज की निर्धन और निर्बल जातियों के सामाजिक और आर्थिक उत्थान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले दादा के नाम से प्रसिद्ध पांडुरंग शास्त्री आठवले का...

शक्ति पर्व पर हुआ शस्त्रों का पूजन 0

शक्ति पर्व पर हुआ शस्त्रों का पूजन

स्वयंसेवकों ने किया पथ संचलन जयपुर (विसंकें)। हिन्दू केवल एक पूजा पद्धति नही बल्कि एक जीवन शैली है। हिन्दू राष्ट्र है तो सर्वे भवन्तु सुखिनः की बात करता है। यह राष्ट्र हिंदू राष्ट्र है...

विजयादशमी उत्सव, नागपुर में मुख्य अतिथि कैलाश सत्यार्थी जी का संबोधन 0

विजयादशमी उत्सव, नागपुर में मुख्य अतिथि कैलाश सत्यार्थी जी का संबोधन

ऊँ अग्ने नय सुपथा राये, अस्मान् विष्वानि देव वयुनानि विद्वान्. युयोध्यस्म्ज्जुहु राणमेनो भूयिष्ठां ते नम उक्तिं विधेम.. हे अग्नि स्वरूप परमात्मा हमें सही रास्ते पर चलाएं. ताकि हम अच्छे कार्य करते हुए संसार के...

प.पू. सरसंघचालक डाॅ. मोहन जी भागवत के श्री विजयादशमी उत्सव 2018 के अवसर पर दिये गये उद्बोधन का सारांश 0

प.पू. सरसंघचालक डाॅ. मोहन जी भागवत के श्री विजयादशमी उत्सव 2018 के अवसर पर दिये गये उद्बोधन का सारांश

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प.पू. सरसंघचालक डाॅ.  मोहन जी भागवत के श्री विजयादशमी उत्सव 2018 (गुरुवार दिनांक 18 अक्तूबर 2018) के अवसर पर दिये गये उद्बोधन का सारांश-   प्रास्ताविक  इस वर्ष की विजयादशमी के...

Glasnost, Bharat and the Sangh. 0

Glasnost, Bharat and the Sangh.

It was anticipated that the three day lecture series by Dr Mohan ji Bhagwat would trigger conversation and debate.  Most people welcomed this unique outreach. However some people expressed doubts on the sincerity of...