Category: आलेख

0

कश्मीर : अतीत से आज तक – अंतिम भाग

भावी स्वर्णिम कश्मीर पाकिस्तान प्रेरित मजहबी आतंकवाद को जन्म और संरक्षण देकर कश्मीर को भारत की मुख्य राष्ट्रीय धारा से काटने वाली अलगाववादी व्यवस्था समाप्त हो गई है. भारतीय सविधान के अस्थाई अनुच्छेद 370...

0

कश्मीर : अतीत से आज तक – भाग दो

वीरव्रती दिग्विजयी कश्मीर नरेन्द्र सहगल हम सभी भारतीयों को कश्मीर की गौरवमयी क्षात्र परंपरा और अजय शक्ति पर गर्व है. विश्व में मस्तक ऊंचा करके 4000 वर्षों तक स्वाभिमान पूर्वक स्वतंत्रता का भोग कश्मीर ने अपने बाहुबल...

0

कश्मीर : अतीत से आज तक – भाग तीन

नरेंद्र सहगल कट्टरपंथी धर्मान्तरित कश्मीर सारे देश में चलती धर्मान्तरण की खूनी आंधी की तरह ही कश्मीर में भी विदेशों से आए हमलावरों की एक लंबी कतार ने तलवार के जोर पर हिन्दुओं को...

0

कश्मीर : अतीत से आज तक – भाग एक

धर्म – रक्षक आध्यात्मिक कश्मीर नरेन्द्र सहगल पिछले अनेक वर्षों से मजहबी कट्टरपन, भारत विरोध और हिंसक जिहाद के संस्कारों में पल कर बड़ी हुई कश्मीर घाटी की युवा पीढ़ी को भारत की मुख्य...

0

कश्मीर की स्वतंत्रता और संस्कृति का रक्षक राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ

नरेंद्र सहगल भारत की सर्वांग स्वतंत्रता, सुरक्षा एवं विकास के ध्येय के साथ आगे बढ़ रहे संघ के स्वयंसेवकों ने जम्मू-कश्मीर की रक्षा, भारत में विलय, अनुच्छेद 370 तथा 35/ए  का विरोध, भारतीय सेना...

0

The Caravan, तुलसी गेबार्ड और संघ

दिल्ली से एक मासिक पत्रिका निकलती है – The Caravan. चंपक, सरिता, मुक्ता, गृहशोभा प्रकाशित करने वाली ‘दिल्ली प्रेस’ की यह पत्रिका सन 1988 में बंद हो गयी थी. लेकिन 2009 में इसे मजबूत...

0

अज्ञात स्वतंत्रता सेनानी : डॉक्टर हेडगेवार – 15

नरेंद्र सहगल अखंड भारत की सर्वांग स्वतंत्रता भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस और मुस्लिम लीग की पूर्ण सहमति के बाद विश्व के सबसे प्राचीन राष्ट्र के टुकड़े कर के अंग्रेज अपने घर चले गए. इस दुर्भाग्यशाली...

0

अज्ञात स्वतंत्रता सेनानी : डॉक्टर हेडगेवार – 14

नरेंद्र सहगल संघ संस्थापक डॉक्टर हेडगेवार के देहावसान के बाद संघ के सभी अधिकारी एवं कार्यकर्ता अपने नए सरसंघचालक श्रीगुरुजी के नेतृत्व में डॉक्टर जी द्वारा निर्धारित कार्य-विस्तार के लक्ष्य को पूरा करने हेतु...

0

अज्ञात स्वतंत्रता सेनानी : डॉक्टर हेडगेवार – 13

नरेंद्र सहगल भारतवर्ष की सर्वांग स्वतंत्रता के लिए चल रहे सभी आंदोलनों/संघर्षों पर डॉक्टर हेडगेवार की दृष्टि टिकी हुई थी,यही वजह रही कि डॉक्टर हेडगेवार ने अस्वस्थ रहते हुए भी अपनी पूरी ताकत संघ...

0

अज्ञात स्वतंत्रता सेनानी : डॉक्टर हेडगेवार – 12

नरेंद्र सहगल 14 फरवरी 1930 को अपने दूसरे कारावास से मुक्त होकर डॉक्टर हेडगेवार ने पुनः सरसंघचालक का दायित्व सम्भाला और संघ कार्य को देशव्यापी स्वरूप देने के लिए दिन-रात जुट गए.अब डॉक्टर जी की शारीरिक, मानसिक एवं...