Category: इतिहास-स्मृति

VSK-LOGO-720x340 0

23 अप्रैल / इतिहास स्मृति – पेशावर कांड के नायक चन्द्रसिंह गढ़वाली

जयपुर (विसंकें). चन्द्रसिंह का जन्म ग्राम रौणसेरा, (जिला पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखंड) में 25 दिसम्बर, 1891 को हुआ था. वह बचपन से ही बहुत हृष्ट-पुष्ट था. ऐसे लोगों को वहां ‘भड़’ कहा जाता है. केवल...

VSK-LOGO-720x340 0

20 अप्रैल / इतिहास स्मृति – विजयनगर साम्राज्य के प्रेरक देवलरानी और खुशरोखान

मध्यकालीन इतिहास में हिन्दू गौरव के अनेक पृष्ठों को वामपंथी इतिहासकारों ने छिपाने का राष्ट्रीय अपराध किया है. ऐसा ही एक प्रसंग गुजरात की राजकुमारी देवलरानी और खुशरोखान का है. अलाउद्दीन खिलजी ने दक्षिण...

Bajirao-Peshv 0

25 फरवरी / पालखेड़ का ऐतिहासिक संग्राम – बाजीराव पेशवा (प्रथम)

जयपुर (विसंके). द्वितीय विश्व युद्ध के प्रसिद्ध सेनानायक फील्ड मार्शल मांटगुमरी ने युद्धशास्त्र पर आधारित अपनी पुस्तक ‘ए कन्साइस हिस्ट्री ऑफ वारफेयर’ में  विश्व के सात प्रमुख युद्धों की चर्चा की है. इसमें एक युद्ध...

1947 में पाकिस्तानी सेना द्वारा जम्मू कश्मीर में किये गए नरसंहार 0

1947 में पाकिस्तानी सेना द्वारा जम्मू कश्मीर में किये गए नरसंहार

1947 में जम्मू कश्मीर के भारत अधिमिलन से ठीक पहले पाकिस्तान ने 22 अक्तूबर को जम्मू कश्मीर पर हमला कर दिया. इस हमले में पाकिस्तानी सेना के साथ कबाइली सेना ने जम्मू कश्मीर में...

कब, कैसे हुआ जम्मू कश्मीर अधिमिलन – तारीख की नज़र में 0

कब, कैसे हुआ जम्मू कश्मीर अधिमिलन – तारीख की नज़र में

आजादी के समय जम्मू कश्मीर राज्य की संवैधानिक स्थिति क्या थी और कैसे जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग बना. इसको समझने के लिए कुछ समय के पड़ावों को समझकर आप आसानी से जम्मू...

जम्मू कश्मीर अधिमिलन के 7 नायक 0

जम्मू कश्मीर अधिमिलन के 7 नायक

1947 में ब्रिटेन समेत अंतरराष्ट्रीय ताकतें जम्मू कश्मीर राज्य को भारत में शामिल न होने देने की चालें चल रही थीं. क्योंकि एशिया में जम्मू कश्मीर का बहुत बड़ा भौगोलिक और सामरिक महत्व है....

जम्मू कश्मीर पर पाकिस्तानी हमले की बरसी पर POJK में मना ब्लैक डे 0

जम्मू कश्मीर पर पाकिस्तानी हमले की बरसी पर POJK में मना ब्लैक डे

22 अक्तूबर 1947, वो दिन था जब पाकिस्तानी सेना ने जम्मू कश्मीर हमला किया था. पाकिस्तानी सेना ने ये हमला तत्कालीन जम्मू कश्मीर के कोटली-मुज्जफराबाद इलाके में किया था. जो अब पाकिस्तान अधिक्रांत जम्मू...

बंटवारा और ‘सफेद शैतान’ 0

बंटवारा और ‘सफेद शैतान’

 मेरे पिता झंग-मधुआणा के जमींदार हिंदू परिवार के सबसे छोटे पुत्र थे। तब वे गांव के स्कूल में ही छठी कक्षा में पढ़ते थे। एक दिन स्कूल में ब्रिटिश इंडियन एजुकेशन सर्विस के अधिकारी...

त्रिपुरा के बलिदानी स्वयंसेवक / 28 जुलाई – इतिहास स्मृति 0

त्रिपुरा के बलिदानी स्वयंसेवक / 28 जुलाई – इतिहास स्मृति

विश्व भर में फैले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के करोड़ों स्वयंसेवकों के लिए 28 जुलाई, 2001 एक काला दिन सिद्ध हुआ। इस दिन भारत सरकार ने संघ के उन चार वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की मृत्यु की...

कारगिल विजय दिवस 0

कारगिल विजय दिवस

कारगिल विजय दिवस स्वतंत्र भारत के लिये एक महत्वपूर्ण दिवस है। यह हर साल 26 जुलाई को मनाया जाता है। कारगिल युद्ध लगभग 60 दिनों तक चला और 26 जुलाई को उसका अंत हुआ। इसमें भारत की विजय...