Category: इतिहास-स्मृति

VSK-LOGO 0

दस मई 1857, जब क्रान्ति का बिगुल बज उठा – 10 मई इतिहास-स्मृति

दस मई 1857, जब क्रान्ति का बिगुल बज उठा – 10 मई इतिहास-स्मृति इतिहास इस बात का साक्षी है कि भारतवासियों ने एक दिन के लिए भी पराधीनता स्वीकार नहीं की। आक्रमणकारी चाहे जो हो;...

कांगला दुर्ग (मणिपुर) का पतन / 27 अप्रैल – इतिहास स्मृति 0

कांगला दुर्ग (मणिपुर) का पतन / 27 अप्रैल – इतिहास स्मृति

कांगला दुर्ग का पतन-27 अप्रैल/इतिहास-स्मृति 1857 के स्वाधीनता संग्राम में सफलता के बाद अंग्रेजों ने ऐसे क्षेत्रों को भी अपने अधीन करने का प्रयास किया, जो उनके कब्जे में नहीं थे। पूर्वोत्तर भारत में मणिपुर...

330px-JallianwalaBaghmemorial1227 0

अनुपम क्रान्तितीर्थ जलियांवाला बाग – 13 अप्रैल इतिहास-स्मृति

अनुपम क्रान्तितीर्थ जलियांवाला बाग – 13 अप्रैल इतिहास-स्मृति भारतीय स्वतन्त्रता के लिए हुए संघर्ष के गौरवशाली इतिहास में अमृतसर के जलियाँवाला बाग का अप्रतिम स्थान है। इस आधुनिक तीर्थ पर हर देशवासी का मस्तक उन वीरों...

चिपको आन्दोलन और गौरादेवी - 26 मार्च इतिहास-स्मृति 0

चिपको आन्दोलन और गौरादेवी – 26 मार्च इतिहास-स्मृति

चिपको आन्दोलन और गौरादेवी – 26 मार्च इतिहास-स्मृति आज पूरी दुनिया लगातार बढ़ रही वैश्विक गर्मी से चिन्तित है। पर्यावरण असंतुलन, कट रहे पेड़, बढ़ रहे सीमेंट और कंक्रीट के जंगल, बढ़ते वाहन, ए.सी,...

VSK-LOGO 0

जब भारतीय बन्दी अन्दमान पहुंचे – 10 मार्च इतिहास-स्मृति

जब भारतीय बन्दी अन्दमान पहुंचे – 10 मार्च इतिहास-स्मृति अन्दमान-निकोबार या काले पानी का नाम सुनते ही रोंगटे खड़े हो जाते हैं। यह वह स्थान है, जहाँ भारत के उन वीर स्वतन्त्रता सेनानियों को...

महारानी कर्मवती के नेतृत्व में 13000 विरांगनाओ ने चित्तौड़ का दूसरा जौहर किया - 8 मार्च 1535 इतिहास-स्मृति 0

महारानी कर्मवती के नेतृत्व में 13000 विरांगनाओ ने चित्तौड़ का दूसरा जौहर किया – 8 मार्च 1535 इतिहास-स्मृति

महारानी कर्मवती के नेतृत्व में 13000 विरांगनाओ ने चित्तौड़ का दूसरा जौहर किया – 8 मार्च 1535 इतिहास-स्मृति मेवाड़ के कीर्तिपुरुष महाराणा कुम्भा के वंश में पृथ्वीराज, संग्राम सिंह, भोजराज और रतनसिंह जैसे वीर योद्धा...

पालखेड़ का ऐतिहासिक संग्राम – 25 फरवरी इतिहास-स्मृति 0

पालखेड़ का ऐतिहासिक संग्राम – 25 फरवरी इतिहास-स्मृति

पालखेड़ का ऐतिहासिक संग्राम – 25 फरवरी इतिहास-स्मृति द्वितीय विश्व युद्ध के प्रसिद्ध सेनानायक फील्ड मार्शल मांटगुमरी ने युद्धशास्त्र पर आधारित अपनी पुस्तक ‘ए कन्साइस हिस्ट्री ऑफ़ वारफेयर’ में  विश्व के सात प्रमुख युद्धों की...

गढ़ आया, पर सिंह गया _ 4 फरवरी इतिहास-स्मृति 0

गढ़ आया, पर सिंह गया _ 4 फरवरी इतिहास-स्मृति

गढ़ आया, पर सिंह गया _ 4 फरवरी इतिहास-स्मृति सिंहगढ़ का नाम आते ही छत्रपति शिवाजी के वीर सेनानी तानाजी मालसुरे की याद आती है। तानाजी ने उस दुर्गम कोण्डाणा दुर्ग को जीता, जो...

युवा क्रांतिवीर अनंत कान्हरे 0

युवा क्रांतिवीर अनंत कान्हरे द्वारा जैक्सन का वध – 21 दिसम्बर/इतिहास-स्मृति

अनंत कान्हरे द्वारा जैक्सन का वध – 21 दिसम्बर/इतिहास-स्मृति अंग्रेज शासन में कुछ अधिकारी छोटी-छोटी बात पर बड़ी सजाएं देकर समाज में आतंक फैला रहे थे। इस प्रकार वे कोलकाता, दिल्ली और लंदन में बैठे...

विजय दिवस 0

“विजय दिवस” इस ऐतिहासिक जीत को खुशी आज भी हर देशवासी के मन को उमंग से भर देती है

16 दिसम्बर -विजय दिवस 1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर भारत की जीत के कारण मनाया जाता है। इस युद्ध में 93,000 पाकिस्तानी सेना नेआत्मसमर्पण किया। साल 1971 के युद्ध में भारत ने पाकिस्‍तान...