Category: rss

विजयादशमी उत्सव, नागपुर में मुख्य अतिथि कैलाश सत्यार्थी जी का संबोधन 0

विजयादशमी उत्सव, नागपुर में मुख्य अतिथि कैलाश सत्यार्थी जी का संबोधन

ऊँ अग्ने नय सुपथा राये, अस्मान् विष्वानि देव वयुनानि विद्वान्. युयोध्यस्म्ज्जुहु राणमेनो भूयिष्ठां ते नम उक्तिं विधेम.. हे अग्नि स्वरूप परमात्मा हमें सही रास्ते पर चलाएं. ताकि हम अच्छे कार्य करते हुए संसार के...

प.पू. सरसंघचालक डाॅ. मोहन जी भागवत के श्री विजयादशमी उत्सव 2018 के अवसर पर दिये गये उद्बोधन का सारांश 0

प.पू. सरसंघचालक डाॅ. मोहन जी भागवत के श्री विजयादशमी उत्सव 2018 के अवसर पर दिये गये उद्बोधन का सारांश

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प.पू. सरसंघचालक डाॅ.  मोहन जी भागवत के श्री विजयादशमी उत्सव 2018 (गुरुवार दिनांक 18 अक्तूबर 2018) के अवसर पर दिये गये उद्बोधन का सारांश-   प्रास्ताविक  इस वर्ष की विजयादशमी के...

सक्षम के राष्ट्रीय अधिवेशन में परम पूज्य सरसंघचालक जी का उद्बोधन 0

सक्षम के राष्ट्रीय अधिवेशन में परम पूज्य सरसंघचालक जी का उद्बोधन

सक्षम के राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय दयाल सिंह जी पंवार, केंद्रीय मंत्री आदरणीय थावर सिंह जी गहलोत और राज्य शासन के मंत्री आदरणीय चतुर्वेदी जी, आदरणीय बोहरा जी, उपस्थित नागरिक सज्जन, माता भगिनी और सक्षम...

श्री राम जन्म भूमि पर सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय 0

श्री राम जन्म भूमि पर सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय

प्रेस विज्ञप्ति आज सर्वोच्च न्यायालय ने श्री राम जन्मभूमि के मुकदमे में तीन सदस्य पीठ द्वारा 29 अक्टूबर से सुनवाई का निर्णय किया है, इसका हम स्वागत करते है और विश्वास करते है कि...

भविष्य का भारत – संघ का दृष्टिकोण  (द्वितीय दिवस) 0

भविष्य का भारत – संघ का दृष्टिकोण (द्वितीय दिवस)

द्वितीय दिवस दिनांक 18-09-2018   श्री मोहन भागवत जी मंच पर उपस्थित माननीय संघचालकगण। उपस्थित सभी महानुभावों, माताओं, बहनों। कल हमने देखा कि किस प्रकार और किस कार्य के लिए संघ की स्थापना हुई।...

भविष्य का भारत – संघ का दृष्टिकोण (प्रथम दिवस) 0

भविष्य का भारत – संघ का दृष्टिकोण (प्रथम दिवस)

मंचस्थ माननीय संघचालक वर्ग, उपस्थित सभी महानुभाव माताओं, बहिनों। संघ को समझने के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन हुआ है क्योंकि संघ अब एक शक्ति के रूप में इस देश में उपस्थित है। ऐसा...

हमारा संविधान इस प्राचीन राष्ट्र की साझा सहमति का दस्तावेज है – डॉ. मोहनराव भागवत जी 0

हमारा संविधान इस प्राचीन राष्ट्र की साझा सहमति का दस्तावेज है – डॉ. मोहनराव भागवत जी

 बंधुत्व का वैचारिक अधिष्ठान हिन्दुत्व है. महिलाएं न देवी हैं, न दासी, वे राष्ट्र के विकास में पुरूषों की बराबर की साझीदार और हिस्सेदार हैं. देशभक्ति, पूर्वजों का गौरव और अपनी संस्कृति से प्रेम...

हम संघ का वर्चस्व नहीं चाहते – डॉ मोहन भागवत जी 0

हम संघ का वर्चस्व नहीं चाहते – डॉ मोहन भागवत जी

  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि “हम संघ का वर्चस्व नहीं चाहते. हम समाज का वर्चस्व चाहते हैं. समाज में अच्छे कामों के लिए संघ के वर्चस्व की आवश्यकता...

स्वामी विवेकानंद ने विश्व बंधुत्व का विचार सबके सम्मुख रखा था – डॉ. मनमोहन वैद्य 0

स्वामी विवेकानंद ने विश्व बंधुत्व का विचार सबके सम्मुख रखा था – डॉ. मनमोहन वैद्य

कांग्रेस अध्यक्ष श्री राहुल गांधी द्वारा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तुलना ‘मुस्लिम ब्रदरहुड’ के साथ करने पर संघ से परिचित और राष्ट्रीय विचार के लोगों आश्चर्य होना स्वाभाविक है. भारत के वामपंथी, माओवादी और...