Category: Uncategorized

वे पन्द्रह दिन… / 09 अगस्त, 1947 0

वे पन्द्रह दिन… / 09 अगस्त, 1947

सोडेपुर आश्रम… कलकत्ता के उत्तर में स्थित यह आश्रम वैसे तो शहर के बाहर ही है. यानी कलकत्ता से लगभग आठ-नौ मील की दूरी पर. अत्यंत रमणीय, वृक्षों, पौधों-लताओं से भरापूरा यह सोडेपुर आश्रम,...

विदेशी/विधर्मी परतंत्रता के कारणों पर गहरा मंथन 0

विदेशी/विधर्मी परतंत्रता के कारणों पर गहरा मंथन

डॉक्टर हेडगेवार, संघ और स्वतंत्रता संग्राम – 8 सन् 1922 में डॉक्टर हेडगेवार को मध्य प्रांत की कांग्रेस इकाई ने प्रांतीय सह मंत्री का पदभार सौंप दिया। डॉक्टर जी ने कांग्रेस के भीतर ही एक संगठित स्वयंसेवक दल...

वे पन्द्रह दिन… / 08 अगस्त, 1947 0

वे पन्द्रह दिन… / 08 अगस्त, 1947

शुक्रवार आठ अगस्त…. इस बार सावन का महीना ‘पुरषोत्तम (मल) मास’है. इसकी आज छठी तिथि है, षष्ठी. गांधीजी की ट्रेन पटना के पास पहुंच रही है. सुबह के पौने छः बजने वाले हैं. सूर्योदय...

वे पन्द्रह दिन… / 07 अगस्त, 1947 0

वे पन्द्रह दिन… / 07 अगस्त, 1947

देश भर के अनेक समाचार पत्रों में कल गांधी जी द्वारा भारत के राष्ट्रध्वज के बारे में लाहौर में दिए गए वक्तव्य को अच्छी खासी प्रसिद्धि मिली है. मुम्बई के ‘टाईम्स’ में इस बारे...

गांधी जी के असहयोग आंदोलन में अग्रणी भूमिका 0

गांधी जी के असहयोग आंदोलन में अग्रणी भूमिका

डॉक्टर हेडगेवार, संघ और स्वतंत्रता संग्राम – 6 प्रखर राष्ट्रभक्ति की सुदृड़ मानसिकता के साथ डॉक्टर हेडगेवार ने ‘कांग्रेसी’ कहलाना भी स्वीकार कर लिया। नागपुर अधिवेशन में अपना रुतबा जमाने के बाद वे पूजनीय महात्मा गांधी द्वारा मार्गदर्शित...

वे पंद्रह दिन… / 06 अगस्त, 1947 0

वे पंद्रह दिन… / 06 अगस्त, 1947

बुधवार… छः अगस्त. हमेशा की तरह गांधी जी तड़के ही उठ गए थे. बाहर अभी अंधेरा था. ‘वाह’ के शरणार्थी शिविर के निकट ही गांधीजी का पड़ाव भी था. वैसे तो ‘वाह’ कोई बड़ा...

डॉ. आंबेडकर ने देश की एकता के लिए आजीवन कार्य किया – डॉ. कृष्णगोपाल जी 0

डॉ. आंबेडकर ने देश की एकता के लिए आजीवन कार्य किया – डॉ. कृष्णगोपाल जी

  इंदिरा गाँधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय एवं प्रज्ञा प्रवाह के संयुक्त तत्वावधान में 4 अगस्त को दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन का नई दिल्ली में आयोजन किया गया। जिसका मुख्य विषय “भारत में समावेशीकरण का...

आजादी के लिए संघर्षरत कांग्रेस को पूर्ण समर्थन 0

आजादी के लिए संघर्षरत कांग्रेस को पूर्ण समर्थन

डॉक्टर हेडगेवार, संघ और स्वतंत्रता संग्राम – 5 भारत में चल रहे सभी प्रकार के स्वतंत्रता-आंदोलनों, शस्त्रक्रांति के प्रयत्नों, समाज सुधार के लिए कार्यरत विभिन्न संस्थाओं तथा सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के जागरण में जुटी सभी धार्मिक संस्थाओं का निकट...

वे पंद्रह दिन… / 05 अगस्त, 1947 0

वे पंद्रह दिन… / 05 अगस्त, 1947

आज अगस्त महीने की पांच तारीख… आकाश में बादल छाये हुये थे, लेकिन फिर भी थोड़ी ठण्ड महसूस हो रही थी. जम्मू से लाहौर जाते समय रावलपिन्डी का रास्ता अच्छा था, इसीलिए गांधी जी...

प्रथम विश्व युद्ध और महाविप्लव की तैयारी 0

प्रथम विश्व युद्ध और महाविप्लव की तैयारी

डॉक्टर हेडगेवार, संघ और स्वतंत्रता संग्राम – 4 नेशनल मेडिकल कॉलेज कलकत्ता से डॉक्टरी की डिग्री और क्रांतिकारी संगठन अनुशीलन समिति में सक्रिय रहकर क्रांति का विधिवत प्रशिक्षण लेकर डॉक्टर हेडगेवार नागपुर लौट आए. स्थान-स्थान...