अयोध्या में बाबरी मस्जिद स्वीकार नहीं: दिनेश चन्द्र

जयपुर 22 मार्च (विसंकें)। अयोध्या के अन्दर किसी भी अवस्था में बाबरी मस्जिद का निर्माण स्वीकार नहीं किया जाएगा। हम भूमि के पक्ष में नहीं हैं, बल्कि राम मंदिर निर्माण में आ रही बाधाओं को दूर करने को लेकर राम मंदिर निर्माण हो जाने तक सहयोग की भूमिका में साथ है। ये विचार विश्व हिन्दू परिषद् के अंतर्राष्ट्रीय संगठन मंत्री दिनेश चन्द्र ने अयोध्या में व्यक्त किए। दिनेश शर्मा ने कहा कि अगर कोर्ट का फैसला पक्ष का ना होकर विपक्ष का होता है तो ऐसे में हिन्दू समाज एक बार फिर राम लला पर भव्य मंदिर निर्माण के लिए लड़ाई शुरू करेगा। हिन्दू समाज मंदिर के साथ मस्जिद को स्वीकार नहीं करेगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि कोर्ट का निर्णय जल्दी आएगा। इस बीच विहिप नेता ने मंदिर-मस्जिद विवाद हल करने के लिए आपसी सहमति के प्रयासों को खारिज किया। विहिप का आपसी सहमति के प्रयासों से कोई लेनादेना नहीं है और मंदिर-मस्जिद विवाद में ऐसी कोशिश बहुत पीछे छूट गई है। अयोध्या मामले में 23 मार्च को सुनवाई पर कहा कि अब निरंतर सुनवाई शुरू होनी चाहिए। जिससे जल्द राममंदिर का निर्णय हो सके। इस मौके पर छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमलनयनदास, रंगमहल के महंत रामशरणदास, अयोध्या संत समिति के अध्यक्ष महंत कन्हैयादास रामायणी, महामंडलेश्वर प्रेमशंकरदास आदि मौजूद रहे। इससे पूर्व विहिप के शीर्ष नेता ने संतों के साथ बैठक कर मंदिर निर्माण के भविष्य की समीक्षा की।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × one =