आज होगा सीकर में तीन दिवसीय ज्ञान गंगा पुस्तक मेले का आगाज

जुटेंगे प्रसिद्ध लेखक एवं विद्वान एक जगह

d9eafe76-759a-45e5-b108-ad2b9cc43fdcजयपुर (विसंकें)। सीकर के बद्री विहार परिसर में आज ज्ञान गंगा पुस्तक मेले  का उद्घाटन होगा। यह मेला सोमवार तक चलेगा जिसमें २० से ज्यादा प्रकाशक अपनी पुस्तकें प्रदर्शित करेंगे। ये पुस्तकें बिक्री के लिए भी उपलब्ध रहेंगी। मेले का उद्घाटन रेवासा पीठ के अग्र पीठाधीश्वर राघवाचार्य जी महाराज एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता दैनिक उद्योग आस-पास के सम्पादक एवं प्रबंध निदेशक पशुपति शर्मा करेंगे। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, राजस्थान के सहक्षेत्र प्रचारक निम्बाराम सभी उपस्थितजनों को संबोधित भी करेंगे।

आयोजन समिति के संयोजक डॉ. कैलाशचन्द्र शर्मा ने बताया कि तीन दिनों तक चलने वाले इस पुस्तक मेले का मुख्य उद्देश्य सद्साहित्य को समाज के हर आयु वर्ग तक पहुँचाना एवं उनमें पढ़ने कि रुचि जागृत करना है। श्रेष्ठ साहित्य श्रेष्ठ व्यक्तित्व के निर्माण में महत्पूर्ण भूमिका निभाता है और इस उद्देश्य से आयोजित इस मेले का आयोजन सीकर ही नहीं अपितु पूरे शेखावाटी में संभवत: पहली बार किया जा रहा है। डॉ. शर्मा ने बताया कि इस मेले का लाभ पूरे शेखावटी क्षेत्र को मिले, इस उद्देश्य से सभी विद्यालयों, उच्च शिक्षण संस्थानों एवं समाज सेवी संस्थाओं से संपर्क कर उनसे ज्यादा से ज्यादा भागीदारी सुनिश्चित करने का आग्रह किया गया है।

इस मेले के दौरान उद्घाटन एवं समारोप सहित नौ सत्रों का आयोजन किया जा रहा है जिनमें श्रेष्ठ साहित्य से श्रेष्ठ व्यक्तित्व का निर्माण, राष्ट्रीय सुरक्षा, भविष्य का भारत, वैचारिक असहिष्णुता, अर्बन नक्सलवाद, राजस्थानी एवं बाल साहित्य, भारत में विज्ञान की परम्परा एवं स्वाभिमानी समाज निर्माण में साहित्य की भूमिका जैसे विषयों पर विशेषज्ञों से चर्चा होगी। इसके अतिरिक्त रविवार को लेखन कार्यशाला का भी आयोजन रखा गया है जिसमे लेखन की बारीकियों का प्रशिक्षण दिया जायेगा।

डॉ. शर्मा ने बताया कि अभी तक शिक्षा के क्षेत्र में पूरे राजस्थान में विख्यात सीकर क्षेत्र इस आयोजन के बाद से साहित्य एवं विमर्श का एक महत्वपूर्ण केंद्र बनकर उभरेगा और पूरे देश के युवाओं को अच्छा साहित्य पढ़ने के लिए प्रेरित करेगा।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × three =