उन्नीस जाति—बिरादरियों के 51 जोडे. बंधेंगे विवाह सूत्र में

—सर्वजातीय विवाह सम्मेलन 14 मई को जयपुर में

—तैयारिया परवान पर

जयपुर, 3 मई। सेवा भारती समिति राजस्थान, जयपुर एवं श्री रामजानकी विवाह समिति जयपुर के संयुक्त तत्वावधान में 14 मई को जयपुर की अंबावाडी स्थित आदर्श विद्या मंदिर ​में ‘सर्वजातीय विवाह सम्मेलन’ आयोजित किया जा रहा है। जरूरतमंद परिवारों को सेवार्थ एवं सहायतार्थ के ​उद्देश्य आयोजित किये जा रहे इस सर्वजातीय विवाह सम्मेलन में उन्नीस जातियों के 51 जोडे. अग्नि के सम्मुख सात फेरे लेंगे। सम्मेलन की तैयारियां परवान पर है। सम्मेलन को प्रभावी बनाने के लिए 22 उप—समितियां गठित की जा चुकी है।

ये रहेगा कार्यक्रम

बुधवार 4 मई को प्रात: सवा आठ बजे प्रथम पूज्य गणपति को निमंत्रण दिया जाए जाएगा। विवाह के दिन 14 मई को प्रात: सवा नौ बजे रतम्भ पूजा एवं प्रधान पूजा की जाएगी। इसके बाद प्रात: सवा दस बजे सीकर रोड के ढेहर के बालाजी स्थित सियारामदास की बगीची से बारात की निकासी होगी जो विभिन्न मार्गों से होती हुई अंबावाडी स्थित विवाह स्थल पहुंचेगी। बारात का सभी जाति—बिरादरी प्रमुखों की ओर से भव्य स्वागत किया जाएगा। सवा ग्यारह बजे तोरण और वरमाला की रस्म पूरी होगी। सवा बारह बजे शुभ विवाह संस्कार की शुरूआत होगी। इस दौरान 51 युवक—युवतियां अग्नि के संमुख सात फेरे लेकर जीवन भर साथ जीने—मरने का संकल्प लेंगे। इसके बाद प्रीतिभोज का कार्यक्रम रहेगा जिसमें सर्वजातीय समाज बंधु एक साथ बैठकर भोजन—प्रसादी ग्रहण करेंगे। विदाई समारोह सायं सवा चार बजे होगा। सम्मेलन के दौरान विवाह सूत्र में बंधे जोडों को त्रिवेणीधाम के संत नारायणदास जी महाराज, रेवासाधाम के स्वामी डॉ.राघवाचार्य वेदांती, नवल सम्प्रदाय के संत मुन्नादास खोडा आदि संत—समाज का आशीर्वाद प्राप्त होगा।

अब तक 992 जोडे.

जानकारों के अनुसार जयपुर में पिछले पांच सालों में पांच सर्वजातीय सामूहिक विवाह सम्मेलन हो चुके है जिसमें विभिन्न जाति—बिरादरियों के 224 विवाह बंधन में बंधे हैं। राजस्थान में ऐसे जोडों की संख्या 992 है। जून माह तक भवानी मंडी, बूंदी, बारां, कोटा में भी सर्वजा​तीय सामूहिक विवाह सम्मेलन आयोजित होंगे। ???????????????????????????????

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 1 =