कार्यकर्ताओं के लिए मीडिया का खास महत्व

कार्यकर्ताओं के लिए मीडिया का खास महत्व – माधव भंडारी

जयपुर (विसंकें)। “राष्ट्रीय विचारधारा रखनेवाले कार्यकर्ताओं को मीडिया से भयभीत होने की कोई जरूरत नहीं है। अपने विचारों के प्रसार हेतु मीडिया का खास महत्त्व है,” इस आशय के विचार भारतीय जनता पार्टी के महाराष्ट्र राज्य मुख्य प्रवक्ता माधव भंडारी ने व्यक्त किए।

विश्व संवाद केंद्र और सावरकर मंडल की ओर से निगडी में आयोजित दो दिवसीय पत्रकारिता प्रशिक्षण वर्ग के उद्घाटन अवसर पर श्री. भंडारी का खास संबोधन हुआ। विश्व संवाद केंद्र द्वारा आयोजित यह तिसरा पत्रकारिता प्रशिक्षण वर्ग था। इस अवसर पर वे बोल रहे थे। विश्व संवाद केंद्र के अध्यक्ष मनोहर कुलकर्णी और सावरकर मंडल के उपाध्यक्ष सदाशिव रिकामे इस अवसर पर मंच पर उपस्थित थे तथा दोनों संस्थाओं के अन्य पदाधिकारी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

भाजपा की ओर से टीवी बहस में सहभागी होने के अनुभवों को साझा करते हुए श्री. भंडारी ने कहा, कि संचार माध्यमों में अब काफी परिवर्तन आया है और हर व्यक्ति में पत्रकार बनने की शक्ति आज विद्यमान है। ऐसे में संयम और सचेत होकर काम करना बहुत जरूरी हुआ है। संघ और उससे जुड़ी संस्थाएं प्रसिद्धी में विश्वास नहीं करती, लेकिन विरोधियों द्वारा होनेवाले दुष्प्रचार का उत्तर देने के लिए हमें तैयार रहना चाहिए।

कार्यक्रम की प्रस्तावना करते हुए विश्व संवाद केंद्र के अध्यक्ष मनोहर कुलकर्णी ने कहा, “राष्ट्रीय विचारों का प्रसार करने का काम विश्व संवाद केंद्र के माध्यम से किया जाता है। प्रकाशन, प्रबोधन आणि प्रशिक्षण की त्रिसूत्री पर मुख्य रूप से विश्व संवाद केंद्र काम करता है।”

अन्य एक सत्र में भाजपा के प्रवक्ता केशव उपाध्ये ने भी प्रतिभागियों का मार्गदर्शन करते हुए उनकी शंकाओं का समाधान किया। इस दो दिवसीय कार्यक्रम में संघ विचार से प्रेरित विभिन्न संस्थाओं से लगभग 30 प्रशिक्षणार्थियों ने सहभाग जताया। इस दौरान संबंधित क्षेत्रों के विशेषज्ञों ने प्रिंट, आनलाईन और इलेक्ट्रानिक मीडिया के विभिन्न गुर उन्हें बताए। इनमें अभय कुलकर्णी और गोपाल जोशी (प्रिंट), विश्वनाथ गरुड ( आनलाईन और सोशल मीडिया) और प्रतिभा चंद्रन तथा रूख्मांगद पोतदार (इलेक्ट्रानिक) ने प्रतिभागियों को मीडिया की बारिकीयों से अवगत कराया।

मराठी के जानेमाने और वरिष्ठ पत्रकार भाऊ तोरसेकर हाथों प्रतिभागियों को प्रमाणपत्रों का वितरण किया गया। उनके द्वारा किए गए उद्बोधन के साथ इस कार्यक्रम का समापन हुआ।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 − twelve =