धर्म धारण करने योग्य, दिखावे के लिए नहीं—ऋतम्भरा जी

 

IMG_9563

 

 

 

 

 

 

वीएसके संवाददाता

जयपुर, 11 अक्टूबर।
‘छोटी काशी’ जयपुर के एसएमएस स्टेडियम के इन्वेस्टमेंट ग्राउण्ड में आयोजित चार दिवसीय ‘हिन्दू स्पिरिचुअल एण्ड सर्विस फेयर—2015’ का रविवार को समापन हुआ। समापन समारोह में
राम जन्मभूमि आंदोलन से जुडी नेता साध्वी ऋतम्भरा जी, केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री श्री जनरल वी.के.सिंह सहित दर्जनों जानी—मानी हस्तियों ने हिस्सा लिया।
उपस्थित जनसैलाब को संबोधित करते हुए साध्वी ऋतम्भरा जी ने कहा कि धर्म दिखावे की वस्तु नहीं है वह तो धारण करने योग्य है। कुछ लोग धर्म को व्यापार बना रहे है जो किसी भी दृष्टि से ठीक नहीं है।
उन्होंने कहा कि यह देश दुर्गा को पूजता है लेकिन मासूम बालिकाओं के साथ बलात्कार की घटनाएं भी होती है जो शर्मसार करनेवाली है। उन्होंने पाश्चात्य संस्कृति की चकाचौंध में महिलाओं को उत्पाद के रूप में प्रस्तुत किए जाने की भी आलोचना की। साध्वी ने कहा कि राजस्थान की धरती वीरों, संतों और सैनानियों की है। यहां की महिलाओं ने अपने पुत्रों को सेना में भेजकर अपने प्रदेश का मान बढाया है।
केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री जनरल वी.के.सिंह ने कहा कि देश में किसी भी बडी समस्या के निदान के लिए सेना को बलाया जाता है। जनता का सेना में विश्वास होता है कि ये सब ठीक कर देंगे क्योंकि सेना के जवान कर्म में विश्वास करते है। सिंह ने कहा कि यदि कर्म को धर्म के साथ जोड दिया जाए तो सभी समस्याओं का निदान हो सकता है।
उन्होंने कहा कि भारत के तेजी से बढते कदमों को देखते हुए कई विदेशी ताकतें भारत को टकटकी निगाहों से देख रही है कि किस तरह भारत को पीछे ले जाएं।
संत सोमगिरी महाराज ने समाज हित पर बल देते हुए कहा कि मनुष्य को कुछ समय समाज के कार्य में भी लगाना चाहिए।
इससे पूर्व देश पर कुर्बान हुए रणबांकुरों की याद में ‘परमवीर वंदन’ कार्यक्रम आयोजित हुआ जिसमें देशभक्ति के तारानों ने वातावरण को देशभक्तिमय बना दिया। उपस्थित लोग  ‘भारत माता की जय’, ‘वंदे मातरम्’ आदि गगनभेदी उद्घोष लगा रहे थे।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − 13 =