पिछले पांच वर्षो में भारत विश्व गुरु के पथ पर अग्रसर हुआ है – इन्द्रेश कुमार

b6c39eaf-f143-4390-bb13-ac99876c281dजयपुर (विसंकें)। भारत की विश्व पटल पर स्वीकारोक्ति बढ़ी है। पिछले पांच वषों में भारत विश्व गुरु के पथ पर अग्रसर हुआ है। 55 मुस्लिम देशों ने पाकिस्तान का आग्रह अस्वीकार कर भारत को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया, भारत मुस्लिम देशों का नेता बना। ”राष्ट्र निर्माण में मतदाता की भूमिका” विषय पर आयोजित विचार गोष्ठी में संबोधित करते हुए श्री इन्द्रेश कुमार ने ये विचार रखे। विश्व संवाद केंद्र ईकाई चुरू द्वारा महाराणा प्रताप विद्यालय सरदारशहर में आयोजित इस विचार गोष्ठी का शुभारम्भ मुख्य वक्ता इन्द्रेश कुमार, खंड संघचालक डॉ बनवारी लाल शर्मा, नगर संघचालक डॉ बन्नेचंद राव ने भारत माता के चित्र के सामने दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यक्रम की प्रस्तावना रखते हुए जितेन्द्र सिंह शेखावत ने उपस्थित सभी आगन्तुकों को विचार गोष्ठी के उद्देश्य के बारे में बताया। मंच परिचय सोनू शर्मा द्वारा करवाया गया। मतदाता जागृति हेतु नृत्य की प्रस्तुति दी गयी।
843a7917-26da-4d4c-bd2b-a0968f796697कार्यक्रम को संबोधित करते हुए इन्द्रेश कुमार ने कहा कि पांच साल पहले तक लोग कहते थे कि ईमानदार का जीना मुश्किल है आज बेईमान कहते हैं कि हमारा जीना मुश्किल है। सभी भारतीयों को नेक और सत्य का संरक्षक बनना चाहिए। उनके अनुसार किसी भी व्यक्ति की पहचान उसके पंथ, धन, समाज, यश, धर्म से नहीं अपितु देश से और राष्ट्र से ही होती है भारत के विभिन्न नामों की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि विश्व के सभी देशों को एक ही नाम से जाना जाता है परंतु भारत की मातृभूमि को अनेक नाम आर्यावृत, भारत, हिन्दुस्थान, हिन्द, इंडिया आदि नामों से जाना जाता है। भारत की राजनैतिक कूटनीति का ही परिणाम है कि जो पश्चिमी देश कभी हमारा अस्तित्व तक स्वीकार नहीं करते थे वो आज हमें सेल्यूट कर रहे हैं। हमारे जीवन का आधार तत्व भारतमाता है उसके बिना हमारा आवास कहाँ है और मृत्यु के बाद भी हमें उसी में समा जाना है यही सत्य है राष्ट्र प्रथम है। 2014 में गंदे भारत से सफ़र कर आज हम स्वच्छभारत, सुन्दर भारत के निर्माण में लगे हैं। 2014 तक गंदगी की तरफ कोई ध्यान नहीं देता था आज खुद प्रधानमंत्री झाड़ू लेकर निकल सकता है, तो मै क्यों नहीं? ऐसे विचारों का निर्माण हुआ है। पुलवामा घटना के बाद प्रत्येक नागरिक यह चाहता था कि हुकूमत पाक को सबक सिखाये और सरकार ने सबक सिखाया भी। यह सरकार की इच्छा, जनता का रोष और सेना की व्यवस्थित कार्यवाही का परिणाम था। 2019 में हमें कैसी सरकार चाहिए? जो पश्चिमी देशों से डरती हो, जो पाक के आगे घुटने टेकती हो, भ्रष्टाचार में विश्व में स्थान रखती हो, स्वच्छता का अभाव हो, ये हमें तय करना है। पाक को सुधारने और अपना नम्बर वन हिन्दुस्तान बनाने वाली सरकार बनायें। यह प्रत्येक भारतवासी का संकल्प हो। सभी के घर के प्रत्येक सदस्य समय निकालें, अपने मित्रों रिश्तेदारों आदि से सम्पर्क करें और उन्हें मतदान हेतु प्रेरित करें। भारत में यह जो स्वर्णिम काल आया है उसे बनाने में अपना सहयोग करें। कार्यक्रम में अनेक चिकित्सक, शिक्षाविद, वकील, पत्रकार, युवा उद्यमी, प्रतियोगी विद्यार्थी, मातृशक्ति और राजनैतिक क्षेत्र के लोग उपस्थित थे।

69ef9315-8d2f-4ef4-a2bd-b2310522de8a c0b784a6-3b90-417e-850c-52251cfb8873 f775c357-06eb-4994-8eb1-1968ed6fe0ea

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × three =