पुलिस में वर्दी से ज्यादा लिखने की अहमियत – शेखावत

9584a65d-b792-4534-a79f-38808689462216 मार्च, जयपुर (विसकें)। पुलिस के कार्य का दायरा विस्तृत होता है। किसी अन्य क्षेत्र के मुकाबले पुलिस का कार्य विविधताओं और चुनौतियों से भरा होता है। पुलिस कार्य की यही शैली उसे रोचक बनाती है। पुलिस के कार्यों में हमेशा उतार-चढ़ाव होते हैं। चुनौतीपूर्ण कार्य को पूरा करने के लिए कर्मठ पुलिसकर्मी हमेशा तैयार रहते हैं। जो लोग पुलिस में भर्ती होना चाहते हैं उन्हें मालूम होना चाहिए कि पुलिस में वर्दी से ज्यादा लिखने की अहमियत होती है। एक पुलिसकर्मी को FIR से लेकर मुकदमा दर्ज होने या FIR लगने तक सारे कार्यों की सावधानी से लिखा पढ़त करनी होती है तभी उसे सफलता मिलती है। राजस्थान पुलिस के पूर्व महानिदेशक अजीत सिंह ने रिटायर्ड अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चैन सिंह राजपुरोहित के पुस्तक विमोचन पर यह बात कही।

6e7c0198-bd51-4dfe-bca1-d5fb772e0dc4

कार्यक्रम का आयोजन पिंक सिटी प्रेस क्लब सभागार में किया गया था। चैन सिंह राजपुरोहित ने परित्राणाय साधुनाम मेरा पुलिस जीवन नामक पुस्तक में पुलिस जीवन से संबंधित आत्मकथा का चित्रण किया है। विमोचन समारोह में अजीत सिंह शेखावत ने मुख्य अतिथि के रूप में कहा कि पुलिस कर्मियों के लिए यह पुस्तक अत्यंत महत्वपूर्ण है। उन्होंने सुझाव दिया कि इस पुस्तक को पुलिस अकादमी व अन्य संस्थाओं में उपलब्ध कराया जाना चाहिए ताकि पुलिस कर्मी इसका लाभ ले सकें।

विमोचन समारोह में जेल डी जी एनआरके रेडी, एडीजी इंटेलिजेंस उमेश मिश्रा, एडीजी कार्मिक राजीव शर्मा सहित कई गणमान्य एवं प्रबुद्ध नागरिक मौजूद थे। कार्यक्रम में रिटायर्ड अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेंद्र सिंह शेखावत, मोहन सिंह रत्नू एवं कुशाल सिंह राजपुरोहित ने पुस्तक लेखक चैन सिंह राजपुरोहित की लेखन शैली और पुस्तक के संस्मरणों पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला। एडीजी इंटेलिजेंस उमेश मिश्रा ने राजपुरोहित की लेखन शैली को बहुत रोचक बताया। लेखक चैन सिंह राजपुरोहित ने कहा कि पुलिस का कार्य ईश्वर का कार्य है। उन्होंने पुस्तक को सरदार महेंद्र सिंह और पूर्व पुलिस महानिदेशक अमिताभ गुप्ता को समर्पित किया और बेबाकी से स्वीकार किया कि उनके जीवन पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अनुशासन और संस्कारों का गहरा प्रभाव रहा है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty − eight =