भारतीय समाज सदैव सहिष्णु–डॉ. बजरंगलाल गुप्त

2 (1)1 (1) यमुना नगर।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, उत्तर क्षेत्र के संघचालक डॉ. बजरंग लाल गुप्त जी ने कहा कि भारतीय समाज—संस्कृति में असहिष्णुता का कोई स्थान नहीं है। जिन लोगों ने यह भय पैदा किया है, वो कई प्रकार के दुराग्रहों से प्रेरित थे। जो साहित्यकार, कलाकार पुरस्कार वापस कर रहे हैं, वह उनकी भावना है। देश में असहिष्णुता जैसी कोई स्थिति नहीं है, भारत का समाज सदैव सहिष्णु रहा है। डॉ.बजरंगलाल गुप्त जी 6 दिवसम्बर को स्थानीय जगाधरी स्थित पेपरमिल ग्राउंड पर संघ के ‘संघदर्शन कार्यक्रम’ में स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए बोल रहे थे।
श्री गुप्त ने कहा कि संघ दर्शन यानि राष्ट्र दर्शन है। भगवान राम का संपूर्ण जीवन देश, धर्म, समाज, संस्कृति की उन्नति के लिए प्रेरणादायक है। इस अवसर पर कार्यक्रम में सौलह सौ स्वयंसेवकों के साथ अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × 3 =