मातृवन्दना रजत जयन्ती पर हिमाचल गौरव विशेषांक एवं कैलेण्डर का विमोचन

मातृवन्दना रजत जयन्ती वर्ष पर हिमाचल गौरव विशेषांक एवं कैलेण्डर का विमोचन

हिमाचल गौरव विशेषांक एवं कैलेण्डर का विमोचन

जयपुर (विसंकें). हिमाचल प्रदेश की सर्वाधिक प्रसारित मासिक पत्रिका ‘मातृवन्दना’ के रजत जयन्ती वर्ष के अवसर पर हिमाचल गौरव विशेषांक एवं नव विक्रमी सम्वत् 2075 के उपलक्ष्य में गेयटी थियेटर शिमला में कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम में नूरपुर में हुई स्कूल बस दुर्घटना में मारे गये बच्चों के लिए दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि अर्पित की गई तथा घायलों के प्रति हार्दिक संवेदना प्रकट की गई.

कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती की वन्दना, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख नरेन्द्र ठाकुर जी, वरिष्ठ पत्रकार अशोक मलिक जी, पी.के. कन्सट्रक्शन प्रा.लि. के एम.डी. प्रमोद सूद जी, मातृवन्दना संस्थान शिमला के अध्यक्ष अजय सूद जी द्वारा दीप प्रज्ज्वलित करके किया गया.

पत्रिका के सम्पादक डॉ. दयानन्द शर्मा जी ने पत्रिका के 25 वर्षों के सतत् प्रकाशन की सफल यात्रा पर प्रकाश डाला. जिसमें राष्ट्रीय चिन्तन समसामयिक मुद्दों, हिमाचल की सामाजिक एवं सांस्कृतिक विरासत के विषयों आदि के बारे में उल्लेख किया. इस समय पत्रिका का दुर्गम तथा प्रदेश के प्रत्येक कोने में प्रसार हो चुका है तथा पत्रिका की पाठक संख्या चार लाख से अधिक पहुंच चुकी है.

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख नरेन्द्र ठाकुर जी ने पत्रिका के रजत जयन्ती वर्ष में प्रवेश करने पर पत्रिका से जुड़े सभी बन्धुओं को बधाई दी, जिनके सार्थक प्रयासों से इसका लगातार 25 वर्षों  से सतत् सफल प्रकाशन हो रहा है. उन्होंने कहा कि पत्रिका के माध्यम से हिमाचल में राष्ट्रीय, सांस्कृतिक, सामाजिक एवं धार्मिक विषयों पर जन मानस का जागरण हो रहा है. पत्रकारिता के क्षेत्र में इस पत्रिका ने विशेष गौरव का स्थान प्राप्त किया है. पत्रिका के विशेषांक ‘हिमाचल गौरव’ के माध्यम से देश-विदेश, शिक्षा, चिकित्सा, खेल, कृषि आदि क्षेत्रों में हिमाचल का गौरव बढ़ाने वाले लोगों की जानकारी समाज तक पहुंचाने का सराहनीय कार्य किया गया है ताकि इससे प्रदेश के युवाओं को प्रेरणा मिल सके. उन्होंने कहा कि युवाओं को सकारात्मक कार्यों में ऊर्जा लगाने की आवश्यकता है, ताकि देश विरोधी शक्तियों द्वारा समाज को बांटने व तोड़ने के षड्यंत्रों को रोका जा सके. वर्ग भेद को भुलाकर देश को समाज के सामूहिक प्रयत्नों से आगे बढ़ाने की जरूरत है.

कार्यक्रम के मुख्यातिथि वरिष्ठ पत्रकार अशोक मलिक जी ने मातृवन्दना पत्रिका के प्रकाशन एवं रजत जयन्ती वर्ष के उपलक्ष्य में प्रकाशित हिमाचल गौरव विशेषांक के लिए मातृवन्दना संस्थान एवं सम्पादकीय मण्डल से जुड़े लोगों के प्रयासों की प्रशंसा की. उन्होंने कहा कि हिंदी पत्रकारिता में मातृवन्दना ने हिमाचल प्रदेश में सर्वाधिक प्रसार संख्या की उपलब्धि प्राप्त की है.

मातृवन्दना पत्रिका के प्रदेश में अधिकतम ग्राहक बनाने वाले हमीरपुर से जमनादास अग्निहोत्री, नुरपूर से रमण डढवाल, पालमपुर से प्रवीण बाली, शिमला से अनुज पंथ, श्रीमति कमलेश तथा पालमपुर से शशिकांत शर्मा को सम्मानित किया गया. कार्यक्रम के अंत में मातृवन्दना संस्थान के अध्यक्ष अजय सूद जी ने उपस्थित सभी लोगों का आभार प्रकट किया.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen + 7 =