राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर, जयपुर में होगा तीन दिवसीय भव्य विज्ञान महोत्सव

28 फरवरी को हम विज्ञान दिवस के रूप में मनाते है। युवाओं में विज्ञान की महत्ता को बढाने एवं रमन इफेक्ट के प्रणेता डॉ. सी.वी.रमन की स्मृति में इसको मनाया जाता है। इस वर्ष राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर जयपुर के मालवीय राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान स्थित लेक्चर थियेटर कॉम्पलैक्स (वी.एल.सी.टी.), में विज्ञान भारती राजस्थान और एम.एन.आई.टी. के संयुक्त तत्वाधान में तीन दिवसीय राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 2018 का भव्य आयोजन 26 से 28 फरवरी तक होगा।
आज वी.एल.सी.टी. में आयोजित पत्रकार वार्ता में विज्ञान भारती के सचिव डॉ. मघेन्द्र शर्मा ने बताया कि राष्ट्रीय विज्ञान दिवस पर जयपुर में विज्ञान से जुडी अनेक प्रतिभाओं का समागम इन तीन दिनों में जयपुर में होगा। इस आयोजन में विज्ञान के साथ कृषि एवं युवा से जुडे अनेक विषयों पर भी चर्चा होगी। जिसमें प्रदेश के विभिन्न विद्यालयों, महाविद्यालयों एवं विश्वविद्यालयों के विद्यार्थी शामिल होगें।
डॉ. मघेन्द्र ने बताया कि यह आयोजन “मानव कल्याण के विज्ञान और तकनीक“ थीम पर रहेगा। जिसमें “विज्ञान, शिक्षा और उसकी लोकप्रियता“, “कृषि, स्वास्थ्य और पर्यावरण“, “कम्प्यूटर विज्ञान और सूचना प्रौद्योगिकी“, “अभिनव और उद्यमिता“ जैसे प्रमुख विषयों पर व्याख्यान होगें, जिसमें विषय विशेषज्ञों द्वारा अलग-अलग सत्रों में मार्गदर्शन प्राप्त होगा।
सोमवार को होगा उद्द्याटन :-
राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 2018 का उद्द्याटन 25 फरवरी, (सोमवार) को प्रातः 9ः30 बजे मालवीय राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान स्थित लेक्चर थियेटर कॉम्पलैक्स (वी.एल.सी.टी.) में होगा। जिसमें केन्द्रीय युवा एवं खेल मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौड, केन्द्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, के साथ राजस्थान सरकार के मंत्री राजपाल सिंह शेखावत, अनीता भदेल, किरण महेश्वरी, श्रीचन्द्र कृपलानी भी उपस्थित रहेगें।
उद्द्याटन समारोह में विज्ञान भारती के राष्ट्रीय महासचिव जयकुमार, संगठन सचिव जयन्त जी, राष्ट्रीय सचिव प्रवीण रामदासे के साथ विज्ञान भारती के प्रदेश एवं राष्ट्रीय कार्यकारीणी के सदस्य और मालवीय राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान के निदेशक एवं अधिकारी शामिल होगें।
 
तीन दिवसीय कार्यक्रम :-
26 फरवरी को प्रातः कार्यक्रम का विधिवत उद्द्याटन के पश्चात् मिथकों और चमत्कारों की वैज्ञानिक व्याख्या और कैरियर के अवसरों पर बदलता परिदृश्य विषय पर व्याख्यान के साथ रोल प्ले एंड विज्ञान नाटक, खुली विज्ञान प्रश्नोत्तरी, चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित होगी।
27 फरवरी को दूसरे दिन जैविक खेती – आज की आवश्यकता, फसल बॉयो टेक्नोलॉजी -प्राप्तियां और चुनौतियां, सूचना क्रांति और कृषि, जलवायु परिवर्तन, जैव विविधता और टिकाऊ कृषि, रसोई बागवानी – घर पर एक व्यवहारिक समाधान, डेटा विज्ञान और साइबर सुरक्षा – धारणा और वास्तविकता, आईटी और करियर पहलुओं में उभरते रुझान, राजस्थान में ई-शासन एक पहल, विषयों पर व्याख्यान आयोजित होगें।
28 फरवरी को विज्ञान विषय के शिक्षको की कार्यशाला के साथ रोबोटिक और मॉडल प्रतियोगिता, आदर्श गांवों से स्मार्ट गांव के लिए प्रस्तुति पर चर्चा होगी।
 
श्रेणीयों का विभाजन :-
विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए विद्यार्थियों को तीन श्रेणीयों में रखा गया है। जिसमें दो श्रेणीयां विद्यालय स्तर पर कक्षा 6 से 8 वीं तक 9 वीं से 12 वीं तक तथा तीसरी श्रेणी में महाविद्यालय एवं विश्वविद्यालय स्तर के विद्यार्थियों को रखा गया है। विभिन्न प्रतियोगिताओं में विजेताओं को पुरस्कृत किया जायेगा।
ये होगें आकर्षणः-
विज्ञान नाटक, चित्रकला प्रतियोगिता, पोस्टर प्रस्तुति, विज्ञान प्रश्नोत्तरी, रोल प्ले, कैरीयर परामर्श, विज्ञान प्रदर्शनी आयोजन के मुख्य आकर्षण का केन्द्र रहेगें।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four + 10 =