शादी के 16 दिन बाद मां भारती के चरणों में कर दिए प्राणोत्सर्ग

भरतपुर का लाल कुपवाड़ा में शहीद

राजस्थान के भरतपुर जिले के रूपवास क्षेत्र की ग्राम पंचायत दाहिना के गांव बरौली ब्राह्मण निवासी सेना का जवान सौरभ कटारा सोमवार रात श्रीनगर में हुए बम धमाके में शहीद हो गया। सौरभ की 3 वर्ष पूर्व ही सेना में ड्राइवर के पद पर नौकरी लगी थी। घटना की सूचना परिजनों को मंगलवार को मिली तो गांव में मातम छा गया। जवान की देह गुरुवार तक पैतृक गांव पहुंचने की संभावना है। हालांकि, स्थानीय प्रशासन को अधिकृत तौर पर कोई जानकारी नहीं मिली है।

जानकारी के अनुसार सौरभ व उसके बड़े भाई गौरव की 8 दिसम्बर को शादी हुई थी। शादी के बाद वह 15 दिसम्बर को घर से डयूटी पर श्रीनगर के कुपवाड़ा गया था। जहां सोमवार रात बम धमाके में सौरभ व एक अन्य जवान गंभीर रूप से घायल हो गए थे। दोनों घायलों ने उपचार के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया।

युवक के शहीद होने की जानकारी मिलने के बाद से ही गांव में माहौल बेहद गमगीन बना हुआ है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। पिता बार-बार सिर्फ यही बात कहकर रो पड़ता है कि एक महीने की छुट्टी पर आया था बेटा…पहले बहन की शादी की और फिर खुद की। फिर वो चला गया। शहीद 16 नवंबर को अवकाश पर आया था। 23 नवंबर को बहन की शादी थी। उसके बाद आठ दिसंबर को खुद की।

जन्मदिन से एक दिन पहले हुआ शहीद

सौरभ का बुधवार 25 दिसम्बर को जन्मदिन था। ऐसे में उसकी दोनों बहन सोमवार को ही ससुराल से अपने पीहर बरौली ब्राह्मण गांव आई थी। जहां पत्नी पूनम पति सौरभ का जन्मदिन मनाने की तैयारी कर रही थी। दोनों बहन सौरभ को जन्मदिन की बधाई देने के लिए बुधवार का इतंजार कर रही थी, लेकिन उससे पहले इस घटना से खुशियां गम बदल गईं। मृतक सौरभ के पिता नरेश सेना से हवलदार के पद से सेवानिवृत हुए हैं। सौरभ के शहीद होने की जानकारी घर में केवल पुरुषों को ही है। मृतका की पत्नी और अन्य को नहीं बताया गया। वहीं, घटना से गांव का माहौल गमगीन बना हुआ है।

 

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 + 6 =