संघ शिक्षा वर्गों पर चर्चा

प्रतिनिधि-सभा. प्रतिनिधि सभा.नागौर,
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा से पूर्व प्रांत कार्यवाह तथा प्रांत प्रचारक बैठक में आगामी संघ शिक्षा वर्गों को लेकर विस्तृत चर्चा हुई. संघ शिक्षा वर्ग स्वयंसेवकों के लिए विशेष प्रशिक्षण वर्ग होता है. इन शिक्षा वर्गों में स्वयंसेवकों के व्यक्तित्व विकास हेतु शारीरिक, बौद्धिक, प्रबन्ध, सेवा, सम्पर्क व प्रचार का प्रशिक्षण दिया जाता है. संघ शिक्षा वर्ग तीन स्तर के होते हैं – प्रथम वर्ष, द्वितीय वर्ष, तृतीय वर्ष. प्रथम वर्ष संघ शिक्षा वर्ग प्रान्त स्तर पर, द्वितीय वर्ष संघ शिक्षा वर्ग क्षेत्र स्तर पर और तृतीय वर्ष राष्ट्रीय स्तर पर होता है, तृतीय वर्ष नागपुर में ही होता है. यह 20 से 25 दिनों के प्रशिक्षण पूर्णतः आवासीय होते हैं.

पूरे देश में 42 प्रांतों में 90 से अधिक स्थानों पर संघ शिक्षा वर्ग का आयोजन आगामी अप्रैल से जून अंत तक सम्पन्न होंगे. आज 9 मार्च की बैठक में संघ शिक्षा वर्ग की तिथियों, स्थानों एवं अधिकारियों के प्रवास व बौद्धिक, चर्चा आदि विषयों के बारे में गहन चर्चा हुई.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की 11 मार्च से प्रारम्भ होने वाली अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं. बैठक के लिए विशाल पंडाल बनकर तैयार है. इसमें 1200 से अधिक प्रतिनिधि एकत्र बैठेंगे. राष्ट्रीय विचारों के साहित्य के स्टॉल भी लग रहे हैं, जहां प्रतिनिधि सद्साहित्य का क्रय कर सकेंगे. इसमें देश के कई प्रकाशक अपनी-अपनी पुस्तकें लेकर आए हैं. इसमें सम्पूर्ण राष्ट्र के भिन्न-भिन्न क्षेत्रों से आए प्रतिनिधियों को राजस्थान की ग्रामीण परिवेश की परम्पराओं से परिचय करवाने की दृष्टि से साज-सज्जा विभाग पूर्ण तैयारियों के साथ जुटा हुआ है.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

18 + fourteen =