सिन्धु दर्शन यात्रा की आयु सीमा 60 से घटाकर 21 वर्ष हुई

जयपुर, (विसंके)। राजस्थान सिन्धी अकादमी की मांग पर राज्य सरकार ने सिन्धु दर्शन यात्रा समिति की ओर से प्रतिवर्ष लेह (लद्दाख) में सिन्धु दर्शन यात्रा में भाग लेने वाले 21 वर्ष से अधिक आयु के यात्रियों को भी सब्सिडी योजना में सम्मिलित किया है। इस योजना में राज्य सरकार की ओर से राज्य के यात्रियों को सिन्धु दर्शन यात्रा हेतु 10 हजार रू. की सब्सिडी प्रदान की जाती है।

अकादमी सचिव ईश्वर मोरवानी ने बताया कि अकादमी अध्यक्ष हरीश राजानी (राज्य मंत्री दर्जा) ने सिन्धु दर्शन यात्रा का मुख्य उद्देश्य देश की सबसे प्राचीन सिन्धु संस्कृति को अक्षुण बनाये रखने एवं सिन्धु संस्कृति को भारत की एकता तथा साम्प्रदायिक सद्भाव के प्रतीक के रूप में बताते हुये माननीय मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे जी एवं स्वायत्त शासन मंत्री श्री श्रीचंद कृपलानी से इस संबंध में त्वरित कार्यवाही करने का आग्रह कर उम्र सीमा को समाप्त करने का अनुरोध किया था। जिससे इसी माह में प्रारम्भ होने वाली यात्रा में अधिक से अधिक तीर्थ यात्रियों को इस योजना का लाभ मिल सके।

माननीय मुख्यमंत्री जी ने इस संबंध में सकारात्म रूख अपनाते हुये त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश प्रदान किये एवं माननीय मुख्यमंत्री जी के निर्देशों पर राज्य सरकार के देवस्थान विभाग की ओर से सिन्धु दर्शन यात्रा हेतु राज्य के तीर्थ यात्रियों हेतु पूर्व में न्यूनतम 60 वर्ष से आयु सीमा घटाकर न्यूनतम 21 वर्ष किये जाने के आदेश जारी किये गये हैं। अकादमी अध्यक्ष ने सिन्धी समाज की ओर से माननीय मुख्यमंत्री जी एवं स्वायत्त शासन मंत्री जी का आभार प्रकट किया है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 − five =