संघ ने की जातिगत भेदभाव, अन्याय या अत्याचार की कड़ी निंदा

img-20160721-wa0021-211x300गुजरात (विसंकें). गिर सोमनाथ जिले के सामढीयाला गांव मे कथित गौ रक्षा के नाम पर अनुसूचित जाति के बंधुओं पर हुआ अत्याचार अपने संपूर्ण समाज के लिए अत्यंत दुःख और पीड़ा देने वाली घटना है. इस प्रकार की घटना की राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कठोर शब्दों में निंदा करता है. गौरक्षा के नाम पर अपने ही समाज के बंधुओं के साथ इस प्रकार का अमानवीय व्यवहार जघन्य अपराध है. इस प्रकार की आपराधिक वृत्ति के लोगों को कठोर दंड होना चाहिए, ऐसा संघ का मानना है.

अपने समाज के अभिन्न अंग ऐसे अपने अनुसूचित जाति के बंधुओं के साथ अलग-अलग समय पर होने वाली ऐसी घटनाए संपूर्ण समाज के लिए गंभीर चिंता और चिंतन का विषय है. अपना समाज एक है और उसके सारे घटकों में परस्पर स्नेह, आत्मीयता और बंधुभाव बना रहे ये देखना हम सब का कर्तव्य है.

ऐसे समय में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ समाज के धार्मिक और सामाजिक अग्रणियों को भी आह्वान करता है कि वे आगे आकर समाज में समता और समरसता का वातावरण बने, इसके लिये प्रयत्न करें. यह हमला शांति और सौहार्द से रहने वाले पूरे हिन्दू समाज पर हुआ है. ऐसी घटनां समाज में समरसता के वातावरण को दूषित करती हैं. सरकार सहित समाज के अग्रणियों को सौहार्द का वातावरण और शांति बनी रहे, इसके लिए विशेष प्रयास करने की आवश्यकता है. ऐसी घटनाओं की स्थिति में किसी भी प्रकार के राजकीय या समाज में जातिविग्रह हो, ऐसे कोई भी प्रयत्न होते हों तो वह भी उचित नहीं है.
—मुकेश मलकाण, प्रान्त संघचालक, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ गुजरात

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen − 6 =