इजरायल का अस्तित्व भारतीयों के कारण—रवि अय्यर

dsc00689 —मे.दलपतसिंह ‘हैफा—हीरो’ की शहादत के 98 साल
—शहादत की पूर्व संध्या पर जयपुर में ‘एक शाम पुलिस के नाम’ कार्यक्रम
—45 वीरांगनाओं एवं पुलिस अधिकारियों का सम्मान
विसंकेजयपुर
जयपुर, 22 सितम्बर। राजस्थान निवासी मेजर दलपतसिंह शेखावत ‘हैफा—हीरो’ की शहादत के 98 साल पूरे होने पर गुरूवार को अमर जवान ज्योति स्मारक पर ‘एक शाम पुलिस के नाम’ कार्यक्रम का आयोजन हुआ।
चामुण्डा सेना राजस्थान एवं विद्या भारती राजस्थान के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस कार्यक्रम में न केवल शहीदों को नमन किया गया बल्कि 45 वीरांगनाओं का एवं दर्जन भर पुलिस अधिकारियों का सम्मान किया गया। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ विश्व विभाग के सह प्रचारक श्री रवि अय्यर थे।
श्री अय्यर ने संबोधित करते हुए कहा कि भारत का अधिकांश इतिहास अंग्रेजों ने लिखा। उन्होंने जानबूझकर मेजर दलपतसिंह जैसे वीरों की साहसिक कार्यों को इतिहास में शामिल नहीं किया। ऐसी वीरता की घटनाओं को अब हमारे इतिहास में स्थान देने की आवश्यकता है।
उन्होंने कहा कि आज इजरायल अस्तित्व में है dsc00674तो सिर्फ भारतीयों के कारण से ब्रिटिस की बजह से नहीं। ये बात वे स्वयं भी मानते हैं। प्रति वर्ष इजरायल में हैफा बंदरगाह पर इजरायली लोग एकत्रित होते हैं और शोर्य स्वरूप परमवीर मेजर दलपतसिंह शेखावत और अन्य नौ सौ भारतीय शहीदों को नमन करते हैं। इतना ही नहीं वहां के पाठ्रूक्रम में मेजर दलपतसिंह शेखावत की वीरतापूर्वक कार्य को भी पढाया जा रहा है।
कार्यक्रम में सैंकडों की संख्या में जयपुरवासी उपस्थित होकर शहीदों को नमन किया। संघ के अखिल भारतीय सह सेवा प्रमुख श्री गुणवंतसिंह जी कोठारी, क्षेत्र प्रचारक श्री दुर्गादास जी, जयपुर प्रांत प्रचारक श्री निम्बाराम जी भी उपस्थित थे।
समाज करें सम्मान dsc00669
पंजाब केसरी की निदेशक श्रीमती किरण चौपडा ने कहा कि जब देश में कोई सैनिक शहीद होता है तो हर भारतीय में जूनून होता है लेकिन समय के साथ जोश ठंडा होता चला जाता है। शहीद और वीरांगनाओं का समय—समय पर सम्मान होता रहे तो देश और देशवासियों में जोश बना रहेगा। उन्होंने यह भी कहा कि वीरांगनाओं के लिए सरकारें तो काम करती ही रहती है लेकिन समाज को भी उनकी सहायता के लिए आगे आना होगा और कुछ न कुछ काम हाथ में लेना होगा। समाज को वीरांगनाओं और उनके परिवारों के लिए सहायता केन्द्र स्थापित करने चाहिए।
मार्ग का नाम मे.दलपतसिंह पर!
मुख्य अतिथि राजस्थान के उच्च शिक्षा मंत्री श्री कालीचरण सर्राफ थे। उन्होंने कहा कि वे जेडीए एवं नगर निगम के अधिकारियों से बात करेंगे ताकि जयपुर के किसी मार्ग का नाम मेजर दलपतसिंह शेखावत के नाम पर रखा जा सके। ऐसे ही उन्होंने शिक्षा मंत्री श्री वासुदेव देवनानी से बात कर मेजर दलपतसिंह की वीरता से जुडा पाठ स्कूली शिक्षा में जोडने की भी बात कही।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 + thirteen =