”…जीना इसी का नाम है”

—जयपुर की पतित पावन सेवा समिति 303fd0de-c2c6-40ad-bb81-f85dc534787b

—समिति प्रतिदिन खिलाती है जरूरतमंदों को नि:शुल्क 

विसंकेजयपुर

जयपुर, 12 जुलाई।
किसी की मुस्कराहटों पे हो निसार,
किसी का दर्द मिल सके तो ले उठा।।
किसी के वास्ते हो तेरे दिल में प्यार,
जीना इसी का नाम है।।
हिन्दी फिल्म का यह गाना तो हमने सुना ही है लेकिन पतित पावन सेवा समिति जयपुर के कार्यकर्ता इन पंक्तियों को जी रहे हैं। ‘भूखे पेट’ को भोजन और सूखे होठ को ‘अमृत’ पिलाने का पावन पुनीत सेवा कार्य समिति के कार्यकर्ता प्रतिदिन कर रहे हैं। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारों से प्रेरित समिति के ये कार्यकर्ता यह साधना सालों से कर रहे हैं।
जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल और ट्रोमा अस्पताल में प्रतिदिन सैकडों की संख्या में मरीज और उनके परिजन आते हैं। इनमें से जयपुर के बाहर के भी होते हैं। जयपुर के बाहर से आने वाले मरीज और उनके परिजनों की संख्या कम नहीं होती है। उनमें से अनेक की आर्थिक स्थिति काफी दयनीय भी होती है। पतित पावन समिति के कार्यकर्ता जयपुर के बाहर से आये रोगियों, उनके परिजनों, गरीब असहाय व्यक्तियों के लिये प्रतिदिन रात को सवाई मानसिंह अस्c6c2fc5d-c8b5-4f0c-94f0-c3016be4d5b5पताल एवं ट्रोमा अस्पताल के बाहर नि:शुल्क भोजन वितरित करते हैं।
समिति ने आवश्यकतानुसार शहर के कई मार्गों पर जल मंदिर तैयार करावाये हैं ताकि प्यासों के सूखें कंठ तर हो सके। ठंडे पानी के लिए वाटर कूलर भी लगाये गए है। समिति के कार्यकर्ता समय—समय पर गौ—सेवा संबंधित कार्य भी करते रहते हैं। पक्षियों को चुग्गा— पानी डालने की उचित व्यवस्था समिति द्वारा की जाती है। इसके अलावा जरूरतमंद विद्यार्थियों को पाठ्यपुस्तकें भी दी जाती है।
मोक्षधाम का विकास
समिति द्वारा त्रिवेणीनगर के मोक्षधाम की देखरेख का कार्य किया जा रहा है। लोगों की सुविधा के लिये समिति ने मोक्षधाम में पक्का बरामदा बनवाया है। इसके अलावा अन्य आवश्यक सुविधाएं भी देने का कार्य समिति के कार्यकर्ता जनसहयोग से कर रहे हैं।
यह भी सेवा
कार्यकर्ता दानदाताओं का सहयोग भी करते हैं। दानदाताओं की ओर से दी गई सामग्री का वितरण समिति द्वारा कराया जाता है। अनेक दानदाताओं ऐसे होते हैं जिनके पास न केवल समय का अभाव होता है बल्कि उन्हें जानकारी का अभाव भी होता है कि वे अपनी राशि किस सेवा कार्य पर और कहां पर खर्च करें। ऐसे दानदाताओं की पतित पावन सेवा समिति हरसंभव मदद करती है।
समिति पर एक नजर
नाम—पतित पावन सेवा समिति, जयपुर
सबंध—अखिल भारतीय दैविक चेतना एवं ज्योति अनुसंधान परिषद (ट्रस्ट)
कार्यालय—49, मोहन नगर, गोपालपुरा बाईपास, जयपुर।
समिति अध्यक्ष—पं. लीलाधर शर्मा (सम्पर्क सूत्र 09414076791)
महासचिव—पं. महेन्द्र शर्मा (सम्पर्क सूत्र 9828179335) 6632eafd-0462-4125-b7a8-0f721c950564

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty + three =