आंतरिक समस्याएं देश के लिए बडा संकट—भाग्यश्री

राष्ट्र सेविका समिति का ‘दैनिक जीवन में देशभक्ति’ विषयक व्याख्यान
जयपुर, 4 अक्टूबर। ‘देश में व्याप्त आंतरिक समस्याएं व प्रखर देशभक्ति का अभाव राष्ट्र के लिए सबसे बडा संकट है।’ यह बात राष्ट्र सेविका समिति की अखिल भारतीय महाविद्यालयीन तरूणी प्रमुख सुश्री भाग्यश्री साठ्ये ने कही। वे मंगलवार को रामबाग स्थित एस.एस.जैन सुबोध महाविद्यालय में राष्ट्र सेविका समिति की ओर से आयोजित ‘दैनिक जीवन में देशभक्ति’ विषयक व्याख्यान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बोल रही थीं।
उन्होंने कहा कि हमें प्रतिदिन नियमों का पालन कर देश—भक्त्ति की अभिव्यक्ति कर सकते हैं। sevika-samiti
उन्होंने यह भी कहा कि अपने आस—पास स्वच्छता,यातायात नियमों की पालना, पर्यावरण संतुलन,राष्ट्रीय धरोहर की सार—संभाल, ऐतिहासिक महापुरूषों की जीवनी को अपना मार्गदर्शक बनाकर हम देश की आतंरिक व्यवस्था को सुचारू रूप से चला सकेंगे। इससे विभिन्न समस्याओं एवं चुनौतियों का समाधान किया जा सकता है। उन्होंने प्रतिदिन दैनिक दिनचर्या में देशहित का कोई न कोई एक क्रियाकलाप कर देश के विकास में योगदान देने का आह्वान भी किया।
इससे पूर्व कार्यक्रम की शुरूआत में महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो.के.बी.शर्मा ने मुख्य वक्ता का स्वागत किया। कार्यक्रम के अंत में कार्यक्रम संयोजिका डॉ.मधु शर्मा ने आभार ज्ञापित किया।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + seventeen =