Tagged: Article

ganesh-shankar-vidyarthi 0

क्रान्ति और सद्भाव के समर्थक गणेशशंकर विद्यार्थी

*हर दिन पावन* 25 अक्तूबर/जन्म-दिवस श्री गणेशशंकर विद्यार्थी का जन्म प्रयाग के अतरसुइया मौहल्ले में अपने नाना श्री सूरजप्रसाद के घर में 25 अक्तूबर, 1890 को हुआ था। इनके नाना सहायक जेलर थे। इनके...

0 0

समान नागरिक आचार संहिता : आज की जरूरत

देश में समान नागरिक आचार संहिता का मुद्दा चर्चा का विषय है। समय—समय पर अनेक टी.वी. चैनलों पर बहस भी होती रहती है। कुछ लोग इसे लागू करने की बात कह रहे हैं तो...

308629_210674478989516_5957336_n 0

गोगा नवमी—वीर गोगाजी की जयंती

गोगाजी राजस्थान के प्रमुख लोक देवता में से एक हैं। उन्हें वीर गोगाजी चौहान के नाम से भी जाना जाता है। उनका जन्म विक्रम संवत 1003 की भादव शुक्लपक्ष की नवमी को चूरू जिले...

unnamed (12) 0

पाकिस्तान: एक मिथक!

अन्तर्राष्ट्रीय मन्च पर पाकिस्तान एक मान्यता प्राप्त राष्ट्र है, किन्तु व्यवहार में यह भू-भाग पूर्णतः अराजक क्षेत्र है। भीतर तथा बाहर दोनों ही मन्चों पर पाकिस्तान का बर्ताव एक राष्ट्र जैसा नहीं है। इन...

0 0

…तो मातृत्व सुख व नौकरी के बीच सामंजस्य

मैटरनिटी बेनीफिट बिल २०१६ मातृत्व लाभ (संशोधन) बिल २०१६ वृहस्पतिवार को राज्यसभा में पारित हो गया। यदि यह बिल बिना किसी रुकावट के लोकसभा में भी पारित हो जाता है एवं राष्ट्रपति की मुहर...

download1 0

13 अगस्त / जन्मदिवस – मारवाड़ का रक्षक वीर दुर्गादास राठौड़

जन्मभूमि मारवाड़ को मुगलों के आधिपत्य से मुक्त कराने वाले वीर दुर्गादास राठौड़ का जन्म 13 अगस्त, 1638 को ग्राम सालवा में हुआ था. उनके पिता जोधपुर राज्य के दीवान आसकरण तथा माता नेतकंवर थीं. आसकरण...

th (2) 0

23 जुलाई / जन्मदिवस – लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक

नई दिल्ली. भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में ऐसे कई महानायक हैं, जिन्होंने अपने महान कार्यों से देश को स्वतंत्र कराने में अहम भूमिका निभाई है. ऐसे ही एक महान नेता हैं लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक....

21del-pg12-0 0

संघ पर गांधी हत्या का आरोप , इतिहास का सबसे बड़ा झूठ

22 जुलाई, 2016 को दैनिक जागरण में प्रकाशित लेखिका अद्वैता काला जी का लेख गांधी की हत्या से संबंधित मामले की सुनवाई के दौरान नाथूराम गोडसे ने अदालत में बयान दिया था –‘हिन्दुओं के...

समानता में सबका मान 0

समानता में सबका मान

—”देश में लंबे अरसे से समान नागरिक संहिता को लेकर बेवजह एक बहस खड़ी करने का प्रयास किया गया है। मजहब के चंद तथाकथित पहरुओं द्वारा यह दिखाने की कोशिश की जाती रही है...