चंद्रकांत जी का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा – डॉ. मनमोहन वैद्य

अत्याचारों के विरोध में देशभक्तों का संघर्ष रुकने वाला नहीं है – सरसंघचालक

श्रद्धांजलि सभा में चंद्रकांत जी को अर्पित किए श्रद्धासुमन

जम्मू कश्मीर. किश्तवाड़ में 9 अप्रैल को जिला अस्पताल में आतंकी हमले में प्राणोत्सर्ग करने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह प्रांत सेवा प्रमुख चंद्रकांत शर्मा की स्मृति में सनातन धर्म सभा द्वारा बीवीएम माध्यमिक विद्यालय किश्तवाड़ में श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई. जिसमें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं, जम्मू कश्मीर के धार्मिक, सांस्कृतिक, सामाजिक व राजनीतिक संगठनों के कार्यकर्ताओं के साथ ही स्थानीय लोगों ने हुतात्मा चंद्रकांत शर्मा तथा उनके सुरक्षा अधिकारी राजेन्द्र कुमार को श्रद्धांजलि अर्पित की.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य ने कहा कि आतंकवादियों व देश विरोधी ताकतों के खिलाफ संघर्ष करने वाले चंद्रकांत जी का जीवन सभी के लिए प्रेरणास्पद है. उनका यह बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा, उनके जीवन से प्रेरणा लेकर असंख्य लोग आतंकवाद के विरुद्ध संघर्ष करने के लिए यहां खड़े रहेंगे. ऐसी मंशा यहां के लोगों ने हर प्रकार से व्यक्त की है और शीघ्र ही सारे भारत वर्ष से आतंक व देश विरोधी ताकतों का खात्मा होकर देशभक्त और धर्म परायण सरकार का निर्माण होगा, ऐसा मुझे विश्वास है. परिहार बंधुओं समेत बलिदानियों का उत्सर्ग व्यर्थ नहीं जाएगा, यह राज्य ही नहीं देश के सभी देशभक्त लोगों के लिए प्रेरणा बनेगा. आतंकियों की ऐसी अमानवीय और कायराना हरकतों से देश के प्रति राष्ट्रवादियों की जीवटता और समर्पण कम नहीं होगा..

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने अपने प्रेषित शोक सन्देश में कहा कि जम्मू कश्मीर के सह प्रांत सेवा प्रमुख अमर बलिदानी चंद्रकांत जी का प्राणांतिक आतंकी हमले में बलिदान एक ओर हम सभी को अतीव वेदनादायक शोक तथा अत्याचारों के प्रति तीव्र क्षोभ से भर देता है तथा दूसरी ओर इन अत्याचारी उन्मादी शक्तियों से संघर्ष करने की प्रेरणा हममें जगाता है. जिस धीरज, समर्पण व साहस के साथ सभी खतरों के सायों में दृढ़तापूर्वक सबको साथ लेकर निर्भय व संतुलित मन से सक्रिय रहकर स्वर्गीय चन्द्रकांत जी ने देशभक्तों के लिए एक जीवंत संबल खड़ा किया था. वह हम सबके लिए बहुत बड़ा कर्तव्यपालन का उदाहरण हो गया है. उसी के बलबूते हम विश्वासपूर्वक कह सकते हैं कि इन अत्याचारों के विरोध में देशभक्तों का संघर्ष रुकने वाला नहीं है. इस अतीव दुःख की बेला में भी हम संकल्प करते हैं कि स्वर्गीय चंद्रकांत जी के सभी आप्त व मित्र परिवारों की संवेदनाओं में अपनी पूर्ण सहभागिता जताते हुए, मैं स्वर्गीय चन्द्रकांत जी की पवित्र स्मृति में अपनी हार्दिक श्रद्धांजलि व्यक्त करता हूँ…

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष रवीन्द्र रैना ने कहा कि संघ के समर्पित कार्यकर्ता कभी डरे नहीं, घबराए नहीं, रुके नहीं और चरैवेति-चरैवेति मन्त्र का आलम्बन लेकर समाज और राष्ट्र के निमित्त आगे बढ़ने में विश्वास करते हैं. घाटी में हमारे समर्पित स्वयंसेवकों के बलिदान की एक लंबी परम्परा किश्तवाड़, डोडा, रामवन और पूरे जम्मू कश्मीर में दिखाई पड़ती है. चंद्रकांत जी, अजीत परिहार, राजेन्द्र जी से लेकर संतोष भंडारी तक यह गौरवमयी परंपरा हमारे लिए अनुकरणीय है. चंद्रकांत जी के जाने का दर्द किश्तवाड़ के एक छोटे बच्चे से लेकर देश के जनमानस तक व्याप्त है. प्रधानमंत्री जी स्वयं चंद्रकांत जी के बलिदान से आहत हैं, उनका बलिदान भारत माता का ध्वज ऊंचा करने वालों और भारत माता की जयकार करने वालों को प्रेरित करता रहेगा.

श्रद्धांजलि  सभा में महामंडलेश्वर स्वामी रामेश्वर दास, काशी से पधारे आचार्य वागीश शास्त्री, संघ के अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख रमेश पप्पा, प्रांत संघचालक ब्रिगेडियर सुचेत सिंह, उत्तर क्षेत्र प्रचारक बनवीर सिंह, प्रान्त प्रचारक रूपेश कुमार, सहित अन्य विशिष्ट लोगों ने अमर बलिदानी चन्द्रकांत शर्मा का पुण्य स्मरण किया..

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four × 2 =