उद्योग और कृषि देश में रोजगार के सशक्त साधन……..

कार्यक्रम में दीप प्रज्जवलन करते अतिथि

कार्यक्रम में दीप प्रज्जवलन करते अतिथि

कार्यक्रम में मंचस्थ अतिथि

कार्यक्रम में मंचस्थ अतिथि

कार्यक्रम में मंचस्थ अतिथि

कार्यक्रम में मंचस्थ अतिथि

कार्यक्रम में उपस्थित प्रबृद्ध जन

कार्यक्रम में उपस्थित प्रबृद्ध जन

प्रदर्शनी

प्रदर्शनी

अवलोकन करते हुए अतिथि

अवलोकन करते हुए अतिथि

विसंके जयपुर 5 जनवरी। लघु उद्योग भारती और सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग राजस्थान के संयुक्त तत्वाधान में आज जयपुर के जे.ई.सी.सी. सीतापुरा में इण्डिया इण्स्टि्रीयल फेयर 2018 (उद्योग दर्शन भारत) का भव्य आगाज हुआ।

उद्योग और कृषि देश में रोजगार के सशक्त साधन है यह कहना था राजस्थान सरकार के गृह मंत्री गुलाबचन्द कटारिया का वह आज आई.आई.एफ. के उद्घाटन में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होनें कहा की हम नौकरी देने वालो को तैयार करेगें तो देश में रोजगार की समस्या स्वतः ही समाप्त हो जायेगी, जिसका प्रयास लघु उद्योग भारती कर रही है। लघु उद्योग भारती उद्यमीयों की समस्या और परेशानीयों को दूर करने के लिए सामूहिक रूप से सबको जोडकर दूर करने का प्रयास करती है।

कटारिया ने कहा की आज सबसे बडा संकट व्यापारी के सामने बाजार की उपलब्धता का है। व्यापारी की इस प्रकार की समस्याओं का समाधान करना अच्छा प्रयास है। राजस्थान में लघुवन उपज से रोजगार को बढावा दिया जा सकता है। हमें किसान और व्यापारी के मध्य की दूरी को पाटना होगा। लघु उद्योग भारती उद्यमी को पहचान देने का कार्य कर रही है।

हरियाणा के श्रम और नियोजन मंत्री नायब सिहं ने कहा कि लघु उद्योगों में कमी आने से रोजगार में कमी आई है। लघु उद्योग मजबूत होगें तो रोजगार बढेगा और देश मजबूत होगा। उन्होनें कहा की इस प्रकार के मेलों से लघु उद्योगों को लाभ होगा।

लघु उद्योग भारती के राष्ट्रीय अध्यक्ष जितेन्द्र गुप्त ने बताया की आज सम्पूर्ण भारत में लघु उद्योग भारती की आज 465 ईकाइयां कार्य कर रही है। छोटे-छोटे उद्योगों के विकास के लिए क्या कार्य हो इस पर लधु उद्योग भारती कार्य कर रही है। उन्होनें कहा की तीन आयामों पर लघु उद्योग भारती कार्य कर रही है जिसमें लघु उद्योगों के लिए सही नीति, विपणन और ट्रेनिंग मुख्य है।

आई.आई.एफ. 2018 के संरक्षक ओम मित्तल ने सभी उद्यमीयों का स्वागत करते हुए कहा कि यह भारत के उद्योग जगत का सबसे बडा आयोजन है। सम्पूर्ण भारत का दर्शन इस मेले में हो रहा है।

राजस्थान के ऊर्जा मंत्री पुष्पेन्द्र सिंह राणावत ने अपने उद्बोधन में कहा कि ऊर्जा के क्षेत्र में प्रदेश में काफी सुधार विगत वर्षो में हुआ है।

सौर और पवन ऊर्जा को राजस्थान में बढावा गत वर्षो में मिला है। हमारे प्रदेश में ऊर्जा का स्तर काफी अच्छा है। उन्होंने कहा की सौर ऊर्जा से रोजगार को बढावा मिलेगा।

उद्योग आयुक्त कुंजीलाल मीणा ने बताया कि उद्योग दर्षन 2018 के इस भव्य आयोजन में राजस्थान के सातो संभागो का प्रतिनिधित्व है। राजस्थान इस आयोजन के लिए पहचाना जायेगा।

रीको के सी.एम.डी. राजीव स्वरूप ने कहा कि संख्या और और रोजगार के हिसाब से एम.एस.एम.ई. बहुत बडा स्तर है। अनेक योजनाएं सरकार द्वारा इस क्षेत्र में चालू की गई है। नियमों के सरलीकरण से इसे व्यवहारी बनाया जा सकता है।

कार्यक्रम में लघु उद्योग भारती के संगठन मंत्री प्रकाश चन्द, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र प्रचारक दुर्गादास, जयपुर प्रान्त प्रचारक निम्बाराम, सह प्रान्त प्रचारक डॉ. शैलेन्द्र के साथ लघु उद्योग भारती के राष्ट्रीय एवं प्रदेश कार्यकारीणी के सदस्य उद्घाटन में उपस्थित रहे।

केन्द्रीय उद्योग और वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु और युवा एवं खेल मंत्री राज्वर्धन सिंह राठौड ने विडीयो संदेश से कार्यक्रम को सम्बोधित किया।

लघु उद्योग भारती के प्रदेश अध्यक्ष ताराचन्द अग्रवाल ने स्वागत भाषण दिया आभार मेले के संरक्षक महेन्द्र खुराणा ने व्यक्त किया। संचालन राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष योगेश गौतम ने किया। कार्यक्रम का प्रारम्भ भारत माता और भगवान विश्वकर्मा के चित्र के सम्मुख दीप प्रज्जवलन से हुआ।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

10 − three =