भारतीय नववर्ष की पूर्व संध्या पर ‘दीपोत्सव’

-पूर्व संध्या पर केशवपुरावासियो ने दीये जलाए

84bc3add-2595-473e-8281-bce1342834a1जयपुर, 6 अप्रैल। हिंदू नव संवत्सर अर्थात भारतीय नववर्ष को लेकर केशवपुरा आदर्श ग्राम में खासा उत्साह है. केशवपुरा आदर्श ग्रामवासियो ने भारतीय नववर्ष की पूर्व संध्या पर शुक्रवार शाम को घरों पर घी के दीए जलाए। गांव का वातावरण दीपोत्सव जैसा जान पड़ रहा था।
केशवपुरा आदर्श ग्राम विकास समिति सदस्यों ने बताया कि चैत्र शुक्ल प्रतिपदा (वर्ष प्रतिपदा) का बडा ऐतिहासिक महत्व है। इसी दिन सूर्योदय से ब्रह्माजी ने सृष्टि की रचना प्रारंभ की। सम्राट विक्रमादित्य ने इसी दिन राज्य स्थापित किया। इन्हीं के नाम पर विक्रमी संवत् का पहला दिन प्रारंभ होता है। प्रभु श्री राम के राज्याभिषेक का दिन यही है। शक्ति और भक्ति के नौ दिन अर्थात् नवरात्र का पहला दिन यही है। सिखो के द्वितीय गुरू अंगद देव का जन्म दिवस है। स्वामी दयानंद सरस्वती ने इसी दिन आर्य समाज की स्थापना की। सिंध प्रान्त के प्रसिद्ध समाज रक्षक वरूणावतार संत झूलेलाल इसी दिन प्रगट हुए। विक्रमादित्य की भांति शालिवाहन ने हूणों को परास्त कर दक्षिण भारत में श्रेष्ठतम राज्य स्थापित करने हेतु यही दिन चुना। युधिष्ठिर का राज्यभिषेक भी इसी दिन हुआ। किसान की मेहनत का फल मिलने का भी यही समय होता है। इन सब को देखते हुए समिति ने गांव में उमंगता से भारतीय नववर्ष मनाने का निर्णय लिया।
संध्या काल में प्रत्येक परिवार में पकवान बनाकर देवालय में भगवान के भोग लगाया जाएगा। गांव के शिवालय में रात्रि में ग्रामवासी रामधनी भी करेंगे।

f9240b9d-7f11-4213-bc71-1810ea726eee

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 + 20 =