सत्य के पीछे शक्ति का खड़े होना जरुरी – डॉ मोहनराव भगवत

सत्य के पीछे शक्ति का खड़े होना जरुरी :- डॉ मोहनराव भगवत

सप्तसिंधू कश्मीर मोहोत्सव

सप्तसिंधू कश्मीर मोहोत्सव

जम्मू कश्मीर स्टडी सेंटर द्वारा आयोजित सप्तसिंधू मोहोत्सव का उदघाटन के अवसर पर वह बोल रहे थे | यहाँ वसंतराव देशपांडे सभागृह मे हुये इस कार्यक्रम मे मुख्या अतिथी मिजोरम के राज्यपाल मा निर्भय शर्मा थे | मंच पर जम्मू कश्मीर स्टडी सेंटर के प्रमुख जवाहरलाल कौल, नागपुर अध्यक्षा कुटुंब कल्याण न्यालायल की निवृत न्यायाधीश श्रीमती मीराताई खाद्द्कार, सचिव चरुदात कहू उपस्थित थे |  दक्षिण मध्य संस्कुर्तिक केंद्र नागपुर मे प्रारंभ हुये ४ दिवसीय कश्मीर विषय पर अनेकानेक कार्यक्रम का आयोजन किया गया है |

उन्होंने आगे कहा, कश्मीर का उल्लेख विवादित क्षेत्र ऐसा ही जागतिक मंच पर होते आया है | लेकिन वास्तव मे वह मूलत : गलत है | वास्तविक यह भारत का आतंरिक मामला है | भारत के लोगोमें एकात्म, एकत्व की भावना कुछ कम पड रही  है और इसका फायदा उन असामाजिक तत्वों को मिल रहा है | कश्मीर के बारे मे वैचारिक मतभेद कैसे बढे, उनमे विसंगतियाँ कैसे पैदा हो इसका निरन्तर प्रयास कुछ असामाजिक तत्व कर रहे है | अब समय आगया है की भारत के लोगोको अपना इतिहास और अपना कश्मीर के सत्य के बारे मे जानना होगा | शक्ति युक्ति के साथ प्रेम की भक्ति की भावना बढ़ेगी  तो निश्चित रूप से भारत के सारे आतंरिक प्रश्नों का निदान संभव होगा |

मा राज्यपाल श्री निर्भय शर्मा ने अपने उद्बोधन मे सेना के योगदान के बारे मे कुछ बाते रखी | उन्होंने कहा, कश्मीर मे सेवा और संरक्षण मे भारतीय सेना का बड़ा योगदान रहा है | वहां के ढोंगी सेकुलर लोगों को उजागर करने की जरुरत है | दुनिया उनका दोगलापन देखे | अब समय आगया है की पाठ्यक्रमो मे कश्मीर का इतिहास, गौरव का पाठ स्कूलोंमे पढ़ाया जाये | केवल ७ % भारतविरोधी लोगोंके कारण भारत की छबी ख़राब नहीं होनी देनी चहिये और यह सत्य सबके सामने आना चहिये |

इस कार्यक्रम मे कश्मीर से विशेष प्रतिनिधि बड़ी संख्या मे उपस्थित है | इनमे कुछ बलूचिस्तानी बलूच लोग है जिनके गाव अब भारत मे है उत्साह के साथ सम्मिलित हुये है |

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × three =