टार्गेट हिट करना हमारा काम, कितने मारे गए ये गिनना एयरफोर्स का काम नहीं – बीएस धनोआ

जयपुर (विसंकें). वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने एयर स्ट्राइक को लेकर खड़े किए जा रहे सवालों को लेकर उत्तर दिया. वायु सेना प्रमुख कोयम्बटूर में पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे. उन्होंने कहा कि हम ये देखते हैं कि जो टारगेट हमें दिया गया वो हिट हुआ या नहीं. हमले में कितने लोग मारे गए ये गिनना एयरफोर्स का काम नहीं है. इस मामले पर सरकार जानकारी दे सकती है. वायुसेना हमले में हुए जानी नुकसान की गिनती नहीं करती, हम ये तय करते हैं कि लक्ष्य पर निशाना लगा या नहीं और हमारा निशाना सटीक लगा है.

पाकिस्तान द्वारा कोई नुकसान न होने के दावे को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि ‘विदेश मंत्रालय ने बता दिया है कि निशाना क्या था. अगर हम (एयरफोर्स) एक लक्ष्य को निशाना बनाने की योजना बनाते हैं तो उसे पूरा भी करते हैं. वरना वे (पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान) जवाब क्यों देंगे, अगर एयरफोर्स ने जंगलों में बम गिराए होते तो पाक ने जवाब नहीं दिया होता.’
विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को लेकर पूछे गए सवाल पर बीएस धनोआ ने कहा, ‘वो फिर से विमान उड़ाएंगे या नहीं ये उनकी स्वास्थ्य संबंधी जांच रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा. इसीलिए फिलहाल, वे स्वास्थ्य जांच से गुजर रहे हैं. जो भी जरूरत होगी, उसके मुताबिक ही इलाज किया जाएगा. एक बार जब हमें उनका स्वास्थ्य जांच संबंधी प्रमाण पत्र मिल जाए तो वह फिर से विमान उड़ा पाएंगे.’

एफ-16 से हुए हमले को नाकाम करने के लिए मिग-21 बाइसन का उपयोग करने पर कहा कि क्यों नहीं करेंगे…मैं चल रहे ऑपरेशन के बारे में टिप्पणी नहीं कर सकता. …ऑपरेशन अब भी जारी है. मिग 21 बाइसन अपग्रेड विमान है और हम अपने सभी उपलब्ध विमानों का उपयोग करेंगे. मिग-21 बाइसन एक अच्छा विमान है, उसे अपग्रेड किया गया है. वह बेहतर रडार, हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइलों और बेहतर हथियार प्रणाली से लैस है. उसे अपग्रेड कर 3.5 जनरेशन का कर दिया गया है…हम अपने पास मौजूद सभी विमानों का इस्तेमाल करेंगे. किसी ऑपरेशन में आप योजना बनाते हैं कि कैसे करेंगे, लेकिन दुश्मन की कार्रवाई का जवाब देते समय जो विमान उपलब्ध होता है, उसी का इस्तेमाल किया जाता है.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

16 − eleven =