संघ के स्वयंसेवकों की पहचान भाषण, बौद्धिक से नहीं उनके आचरण से होती है -ब्रज प्रांत में मोहन भागवत

जम्मूकश्मीर से धारा 370 समाप्त हो। ये हम सब चाहते हैं, लेकिन सभी काम व्यवस्थित तरीके से होने चाहिए। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए हमें अभी न्यायालय के निर्णय की प्रतीक्षा है। आशा है कि फैसला अनुकूल ही आएगा। हमें राजनीति से बचना चाहिए। राष्ट्र को परम वैभव के शिखर तक पहुंचाने के लिए हमें जुटना होगा। ये विचार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सर संघचालक  जी ने यूपी के आगरा स्थित आरबीएस कालेज के बिचपुरी कैंपस सभागार में ब्रज प्रांत के संघचालकों के साथ जिज्ञासा समाधान सत्र में व्यक्त किए। संघ प्रमुख मोहन भागवत जी ने कहा कि समाज में लोगों की हमसे अपेक्षाएं बढ़ी हैं। हमें अपना काम निरंतरता में करते रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि भाषण, बौद्धिक से नहीं संघ के स्वयंसेवकों के आचरण से उनकी पहचान होती है। इसलिए संघचालकों को चाहिए कि वे जो कार्य, व्यापार कर रहे हों उसे पूरी ईमानदारी के साथ करें। संघ प्रमुख भागवत जी ने कहा कि हिंदुत्व की रक्षा और समाज में समरसता लाना ही हमारा उद्देय है। परिस्थिति जब ज्यादा विषम होती है, तो विचारधारा को प्रवाह में लाने के लिए काम करना होता है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × three =