मंदिर और मेट्रो दोनों आवश्यक—डॉ.सुरेन्द्र जैन

final_bstSnapshot_503041—जयपुर में प्रेसवार्ता में बोले विहिप के केन्द्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ.जैन
—कहां सरकार मंदिरों का पुन:निर्माण का आश्वासन दे चुकी है
जयपुर 16 जून। विकास के लिये मन्दिर और मेट्रो दोनों समान रुप से आवश्यक है। मेट्रो कार्य के लिए जयपुर शहर में जिन मन्दिरों को हटाया गया है, उनकी प्राण—प्रतिष्ठा का आश्वासन सरकार द्वारा दिया गया हैं। एक मन्दिर की पुनः प्राण—प्रतिष्ठा की भी जा चुकी है, इसलिये इस पर अविश्वास करने का कोई कारण नहीं हैं। ये कहना था विश्व हिन्दू परिषद के केन्द्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेन्द्र जैन का। वे गुरूवार को पिंकसिटी प्रेस क्लब में पत्रकार वार्ता को सम्बोधित कर रहे थे।
इस अवसर पर डॉ.सुरेन्द्र जैन ने गौ—रक्षण एवं गौ—संवर्धन मंत्रालय बनाने पर राजस्थान सरकार को बधाई दी। उन्होंने कहा कि इस विषय में अभी बहुत काम किये जाने की आवश्यकता है। विहिप और बजरंग दल इस सम्बन्ध में संकल्पबद्ध है। हिंगोनिया गौशाला में गायों की मृत्यु को उन्होंने सरकार व समाज दोनों के लिये चुनौती बताया। नरैना में आई. एस. आई. एस. के नारे लिखने के बारे में उन्होंने कहा कि रमजान पवित्र महीना माना जाता है, इसी माह में गलोरिडा में नरसंहार, बांग्लादेश में हिन्दुओं पर अत्याचार रमजान की पवित्रता पर प्रश्नचिन्ह लगाते हैं। नरैना के मामले पर उन्होंने कहा कि अभी तक मुस्लिम समाज का कोई भी नेता इस कृत्य के विरोध में नहीं बोला है।
विहिप जयपुर प्रान्त के अध्यक्ष नरपत सिंह शेखावत ने हिंगोनिया गौशाला के बारे में कहा कि वहां गायों के चारे पानी की व्यवस्था की जा रही है। हमने सरकार को समय दिया है, आन्दोलन का विकल्प खुला हुआ है। आन्दोलन अंतिम विकल्प है, प्रथम नहीं।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × 4 =