रंग लाई गौसेवकों की श्रम—साधना

—हिंगोनिया गौशाला
—गौसेवक पिछले दस दिन से कर रहे हैं श्रमदान
—साफ होने लगी गौशाला
विसंकेजयपुर
जयपुर, 24 अगस्त। अव्यवस्थाओं का पर्याय बन चुकी हिंगोनिया गौशाला अब व्यवस्थित नजर आने लगी है। गायों के बाडों से कीचड हटने लगा और साफ मिट्टी दिखाई दे रही है।ब यह कर दिखाया है जयपुर शहर के रा.स्वयंसेवक संघ प्रेरित गौसेवकों ने। ये गौसेवक पिछले दस दिन से ​गौशाला में श्रमदान कर रहे है। इसी का परिणाम है कि दस दिन पूर्व गंदगी से अटी यह गौशाला अब साफ—स्वस्थ जान पड रही है।
ज्ञात हो कि प्रशासन की अनदेखी व लापरवाही के चलते हिंगोनिया गौशाला में अव्यवस्थाओं को आलम हो गया था। गायों के बाडों में कीचड के ढेर लग गये थे। गायों को दो—दो फीट कीचड. में रहने को मजबूर थी। गायों का बैठना भी मुश्किल हो गया था। कर्मचारी हडताल पर चले जाने के कारण अनेfinal_bstSnapshot_692871क गायों को असमय काल का ग्रास बनाना पडा था। जब बात गौशाला से बाहर आई तो प्रशासन में हडकंप मच गया। राजनीति गलियारों में हलचल शुरू हुई। अनेक छुट्टभैया नेता फोटों खिंचाने, झूठी वाहवाही और हमदर्दी लेने के लिए गौशाला पहुंचे। लेकिन संघ के प्रेरणा से प्रेरित गौसेवकों ने केवल बातें करने की बजाय गौशाला में नियमित श्रमदान कर स्थिति सुधारने का निर्णय किया। फिर क्या था दर्जनों गौसेवक रोज श्रमदान करने पहुंचे। गौसेवकों की ओर से बाडों की सफाई की जा रही है साथ ही उनमें साफ मिट्टी भी डालने का काम किया जा रहा है ताकि गायें आराम से बैठ सके। इन गौसेवकों का श्रमदान वास्तव में समाज—बंधुओं के लिए प्रेरणा देने का काम कर रहा है।final_bstSnapshot_312531

You may also like...

1 Response

  1. Rachana saxena says:

    Hume garv hai apni Sanskriti avam apke save samarpan per

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen + four =